नई दिल्ली [संतोष कुमार सिंह]। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने आरोप लगाया है कि भ्रष्टाचार के कारण दिल्ली की शिक्षा व्यवस्था ध्वस्त हो गई है। आम आदमी पार्टी की सरकार अपने शिक्षा माडल का राष्ट्रीय ही नहीं अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रचारित कर रही है, लेकिन सच्चाई कुछ और है। स्कूलों में जरूरी सुविधाओं और शिक्षकों की कमी है। बिना प्रिंसिपल के स्कूल चल रहे हैं।

प्रेस वार्ता में उन्होंने कहा कि वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष अमानतुल्लाह खान ने फतेहपुरी मस्जिद में स्कूल को बंद कर उसमें दुकानें खोल दी। उसका पैसा राजनीतिक लाभ के लिए खर्च किया जा रहा है। दिल्ली में खोले गए सैनिक स्कूल में भी आम आदमी पार्टी (आप) ने भ्रष्टाचार किया है। नियमों का उल्लंघन कर बिना टेंडर किए आप कार्यकर्ता सिरशा राव की कंपनी को इसे चलाने की जिम्मेदारी सौंप दी गई। कंपनी भी कुछ दिनों पहले बनाई गई। स्कूल संचालन की जिम्मेदारी किसी गैर सरकारी संस्था को दी जानी चाहिए थी।

करोड़ों रुपये का ठेका देकर आप कार्यकर्ता को लाभ पहुंचाया गया। आप योजना बनाकर भ्रष्टाचार करने वाली पार्टी बन गई है।उन्होंने कहा कि दिल्ली के 84 प्रतिशत स्कूलों में प्रिंसिपल नहीं है। शिक्षकों के 65 हजार में से 21 हजार पद खाली हैं। दिल्ली सरकार के स्कूलों में सुविधाओं का अभाव है।

इसका उदाहरण खजूरी खास स्थित सीनियर सेकेंडरी स्कूल है। इसमें अलग-अलग पाली में पढ़ाई होती है। इस स्कूल में 10वीं व 12 वीं की कक्षाएं तो रोज लगती है,लेकिन कमरे की कमी होने के कारण छठी से नौवीं और 11 वीं की कक्षा एक-एक दिन छोड़कर लगती है। प्राइवेट टीचर्स एसोसिएशन ने संबंधित अधिकारी से इसकी लिखित शिकायत की है।

Edited By: Pradeep Kumar Chauhan