नई दिल्ली, एएनआइ। पूर्वी दिल्ली से भाजपा सांसद गौतम गंभीर ने दिल्ली में एक सप्ताह के लिए लॉकडाउन लगाने का मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का समर्थन किया है। उन्होंने कहा कि कोरोना से बदतर हो रहे हालात के मद्देनजर लगता है कि कोई अन्य तरीका नहीं था। इसके साथ ही गौतम गंभीर ने सीएम केजरीवाल की जमकर आलोचना भी की। उन्होंने आरोप लगाया कि पिछले साल से अब तक दिल्ली सरकार ने कोई तैयारी नहीं की। मुख्यमंत्री सिर्फ आकर भाषण देते हैं और कहते हैं कि मेरे हाथ में कुछ नहीं है। 

गौतम गंभीर ने केजरीवाल से सवाल किया, आप 6 साल से मुख्यमंत्री हैं आपने क्या किया? आप दिल्ली में विश्व स्तरीय स्वास्थ्य सुविधाओं की बात करते थे। क्या दिल्ली में कोई अस्पताल है जहां बिस्तर उपलब्ध हैं?

गौतम गंभीर ने आरोप लगाया कि सरकार विज्ञापन पर करोड़ों रूपये खर्च किए। हर न्यूज चैनल पर हर 2 मिनट में सीएम केजरीवाल का विज्ञापन है। यह पैसा जनता की भलाई के लिए जाता तो दिल्ली में यह हालत नहीं होती। 

ये भी पढ़ेंः बुखार आता है तो कोरोना समझकर परेशान न हों, ये वायरल भी हो सकता है; डॉक्टर ने दी ये सलाह

 

दिल्ली की स्थिति पर श्वेत पत्र जारी करे सरकार: भाजपा

वहीं, दिल्ली विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता और वरिष्ठ भाजपा नेता रामवीर सिंह बिधूड़ी ने कोरोना संकट में आम आदमी पार्टी (आप) पर राजनीति का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि दिल्ली पर ध्यान देने के बजाय वह भाजपा पर दोषारोपण से बाज नहीं आ रही है। दिल्ली पर ध्यान न देने और राजनीति करने की वजह से ही कोरोना बेकाबू हुआ है। इसलिए उन्होंने दिल्ली सरकार से राजधानी की स्थिति और आप सरकार की तैयारियों पर श्वेत पत्र जारी करने की मांग की है।

भाजपा की श्वेत पत्र की मांग पर दिल्ली सरकार का बयान

भाजपा के आरोप पर आम आदमी पार्टी ने कहा है कि यह बेहद निराशाजनक और दुर्भाग्यपूर्ण है कि भाजपा एक ऐसे मुद्दे का राजनीतिकरण कर रही है जिसमें दिल्ली के लोगों का कीमती जीवन शामिल है। इस महामारी ने हम सभी को बुरी तरह प्रभावित किया है। ऐसे समय में फिर से सीएम केजरीवाल ने सभी सरकारों और एजेंसियों को कोरोना से लड़ने के लिए एक साथ आने के लिए कहा है। दिल्ली सरकार पहले ही अपने अधिकांश अस्पताल के बेड कोरोना मरीजों को समर्पित कर चुकी है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप