नई दिल्ली, जेएनएन। पेट्रोल पंपों की हड़ताल से दिल्लीवासियों को हुई परेशानी को लेकर विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता विजेंद्र गुप्ता ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को माफी मांगने के लिए कहा है। गुप्ता ने कहा कि पेट्रोल पंपों की हड़ताल की वजह से नागरिकों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा है। इसके लिए केजरीवाल बिना शर्त दिल्ली वालों से माफी मांगें।

झूठी बयानबाजी कर रहे हैं केजरीवाल 
गुप्ता ने कहा कि दिल्लीवासियों की परेशानी को समझने के बजाय केजरीवाल झूठी बयानबाजी कर जनता को गुमराह करने की कोशिश कर रहे हैं। आम आदमी पार्टी सरकार ने पिछले तीन वर्षों में पेट्रोल पर वैट 15 से बढ़ाकर 27 फीसद किया है। हरियाणा और उत्तर प्रदेश में जहां भाजपा की सरकार है, वहां तेल दिल्ली से सस्ता है। इसलिए दिल्ली वाले बाहर जाकर वाहनों में तेल डलवाने के लिए मजबूर हैं।

दिल्ली पेट्रोल पंप भाजपा नेता के लिए इमेज परिणाम

प्रभावशाली कदम उठाएं केजरीवाल 
विपक्ष के नेता ने कहा कि दिल्ली में वैट ढाई रुपये प्रति लीटर न घटाने से पेट्रोल की बिक्री में 25 फीसद की कमी हुई है और इससे राजस्व में 17.80 रुपये प्रति लीटर का घाटा हुआ है। डीजल पर वैट न घटाने से बिक्री में 50 प्रतिशत की कमी हुई है और इस कारण 11 रुपये प्रति लीटर राजस्व की कमी हुई है। विजेंद्र गुप्ता ने मुख्यमंत्री से आग्रह किया कि वे पेट्रोल और डीजल के दाम कम करने के लिए तुरंत प्रभावशाली कदम उठाएं।

पेट्रोल पंपों का निरीक्षण करने पहुंचे भाजपा नेता
पेट्रोल पंपों की हड़ताल के दौरान केंद्रीय मंत्री विजय गोयल और दिल्ली भाजपा के अध्यक्ष मनोज तिवारी ने निरीक्षण कर पंप कर्मियों से बातचीत की। मनोज तिवारी ने बताया कि वह रकाबगंज स्थित एक पेट्रोल पंप के मालिक से मिले। पेट्रोल पंप के मालिक ने उन्हे बताया कि बीते सात दिनों से पेट्रोल-डीजल एसोसिएशन लगातार मुख्यमंत्री कार्यालय जाकर उनसे पेट्रो पदार्थों के दाम कम करने का आग्रह कर रही है, लेकिन मुख्यमंत्री जिद पर अड़े हैं और चुप्पी साधे बैठे हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री को 50 फीसद तक कम हुई पेट्रोल-डीजल की बिक्री के बारे में अवगत कराया और यह भी बताया कि पेट्रोल पंप पर कार्यरत कर्मचारियों की संख्या में कटौती करने तक की नौबत आ गई है।

पार्टी के चंदे की चिंता कर रहे हैं केजरीवाल 
केंद्रीय मंत्री विजय गोयल ने हड़ताल का समर्थन करते हुए जनपथ स्थित पेट्रोल पंप पर कर्मियों से बातचीत की। गोयल ने कहा कि केजरीवाल दिल्ली की बजाय पार्टी के चंदे की चिंता कर रहे हैं। गोयल ने कहा कि केजरीवाल सरकार के राज में किसी की सुनवाई बिना हड़ताल के नहीं होती। पूर्वी दिल्ली नगर निगम के सफाई कर्मचारियों की 27 दिन तक चली हड़ताल इसका उदाहरण है। गोयल ने कहा कि आज पूरी दिल्ली पेट्रोल-डीजल के लिए परेशान हो रही है।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप