नई दिल्ली [किशन कुमार]। IITF 2019: प्रगति मैदान में आयोजित 39वें अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेले में बृहस्पतिवार को बिहार दिवस मनाया गया। इस अवसर पर लोगों को शाम को हंस ध्वनि थिएटर में लोक गीत व सांस्कृतिक कार्यक्रमों के माध्यम से बिहार की मिट्टी से रू-ब-रू होने का मौका मिला।

लोक गायिका ने बांधा समां

कार्यक्रम में लोक गायिका नीतू कुमारी, अमर आनंद, ऊषा व गायक सत्येंद्र ने लोकगीतों से शाम में रंग भरने का काम किया। कार्यक्रम में बिहार के उद्योग मंत्री श्याम रजक ने पहुंचकर कलाकारों का उत्साह बढ़ाया। 

जनकपुर की नारी गीत पर बजी तालियां

गायिका नीतू ने जैसे ही राम जी से पूछे जनकपुर की नारी गीत से कार्यक्रम की शरुआत की तो पूरा माहौल तालियों की गड़गड़ाहट से गूंज उठा। इसके बाद उन्होंने मांगीला हम वरदान.., इस धारा पर हमने जन्म लिया.., पटना के बैदा बुलाई..., कवने रंगे वृंदा हो आदि गाकर श्रोताओं को झूमने पर मजबूर कर दिया।

झिझिया नृत्‍य रहा आकषर्ण का केंद्र

इसके साथ ही अन्य गायकों ने भी एक से एक मैथिली लोक गीत गाकर श्रोताओं को मंत्रमुग्ध करने का काम किया। एक तरफ तबले की थाप तो दूसरी ओर लोगों के थिरकते पैर माहौल की आत्मीयता को बयां कर रहे थे। कार्यक्रम के अंत में झिझिया नृत्य की प्रस्तुति हुई।

दिल्‍ली-एनसीआर की खबरों को पढ़ने के लिए यहां करें क्‍लिक

Posted By: Prateek Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप