नई दिल्ली, जेएनएन। दिल्ली में अब ऑटो से सफर करना महंगा हो जाएगा। परिवहन विभाग ने किराया वृद्धि को लेकर अधिसूचना जारी कर दी है, लेकिन यह किराया बृहस्पतिवार से लागू नहीं होगा। इस मामले को पहले राज्य परिवहन प्राधिकरण (एसटीए) में भेजा जाएगा। यहां से अनुमति मिलने के बाद ही वृद्धि लागू हो सकेगी। करीब 6 वर्ष बाद ऑटो किराये में वृद्धि की गई है। अब डेढ़ किलोमीटर पर मीटर डाउन होगा। पहले डेढ़ किलोमीटर के लिए लेागों को 25 रुपये देने होंगे। इसके बाद साढ़े नौ रुपये प्रति किलोमीटर की दर से भुगतान करना होगा।

परिवहन विभाग के उपायुक्त अजय कुमार सिनंदी की ओर से जारी अधिसूचना के अनुसार पहले 25 रुपये में 2 किलोमीटर पर मीटर डाउन होता था, लेकिन नए किराये में इसे 1.5 किलोमीटर कर दिया गया है। पहले 2 किलोमीटर के बाद यात्रियों को 8 रुपये प्रति किलोमीटर की दर से भुगतान करना पड़ता था,लेकिन अब लोगों को 9 रुपये 50 पैसे प्रति किलोमीटर की दर से भुगतान करना पड़ेगा।

वहीं, पहले वेटिंग चार्ज 50 पैसा प्रति मिनट था, जिसे बढ़ाकर 75 पैसा प्रति मिनट कर दिया गया है। पहले के 15 मिनट के न्यूनतम वेटिंग के कैप को हटा दिया गया है। ट्रैफिक बेहद धीमा होने पर भी लोगों को वेटिंग शुल्क का भुगतान करना होगा। सरकार का कहना है कि किराये में बढ़ोतरी के बावजूद मुंबई की तुलना में दिल्ली में ऑटो किराया अब भी सस्ता है।

LG के पास नहीं जाएगी फाइल
दिल्ली कैबिनेट ने गत 8 मार्च को ही किराये में बढ़ोतरी को मंजूरी दी थी, लेकिन सरकार और अधिकारियों के बीच तनातनी होने के चलते अधिसूचना जारी नहीं हो पा रही थी। अधिकारी कह रहे थे कि इस मामले की फाइल उपराज्यपाल के पास जानी चाहिए, जबकि सरकार इसे जरूरी नहीं मान रही थी। जब विधि विभाग ने साफ कर दिया कि इस मामले में उपराज्यपाल की मंजूरी की जरूरत नहीं है, तब अधिकारी नए किराये को अधिसूचित करने पर राजी हुए। इससे करीब एक लाख ऑटो चालक लाभांवित होंगे। इससे पहले शीला दीक्षित सरकार ने मई 2013 में किराये में बढ़ोतरी की थी। 

दिल्ली-NCR की ताजा खबरों को पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप