नई दिल्ली [संजीव गुप्ता]। नए उपराज्यपाल विनय कुमार सक्सेना शपथ लेते ही राजधानी की सड़कों पर उतर गए। उन्होंने दोपहर बाद कनाट प्लेस से हवाई अड्डे तक के क्षेत्र का दौरा किया। इस दौरान उन्होंने शहर के बुनियादी ढांचे के उन्नयन और सौंदर्यीकरण के लिए विभिन्न सरकारी एजेंसियों एवं शहरी स्थानीय निकायों के बीच समन्वय की आवश्यकता पर जोर दिया।

इन इलाकों का किया दौरा

सक्सेना के साथ मुख्य सचिव नरेश कुमार, दिल्ली विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष मनीष गुप्ता, नगर निगम आयुक्त अश्विनी कुमार एवं अन्य संबंधित विभागों / एजेंसियों के वरिष्ठ अधिकारी मौजूद रहे। उन्होंने सरदार पटेल मार्ग, धौला कुआं, महिपालपुर, मेहराम नगर और मंडी हाउस जैसे अन्य क्षेत्रों का निरीक्षण किया।

वैश्विक शहर बनाने की पहल

उपराज्यपाल ने सरकार और नागरिकों के प्रभावी सहयोग के साथ दिल्ली को एक वैश्विक शहर के रूप में बनाने की आवश्यकता पर बल दिया। उन्होंने संबंधित अधिकारियों को सड़क, फुटपाथ, स्ट्रीट लाइट, साइनेज सहित शहर के बुनियादी ढांचे में समरूपता सुनिश्चित करने की दिशा में आवश्यक कार्रवाई करने के निर्देश दिए।

फूल लगा कर बागवानी में सुधार पर दिया जोर

उन्होंने चौतरफा साफ-सफाई, नालों की समय पर सफाई, सड़कों के किनारों को हरा-भरा बनाने और केंद्रीय घाटों के रखरखाव पर जोर दिया। उन्होंने सभी मौसमों में उपयुक्त फूलों के पौधे लगाकर क्षेत्र के बागवानी सुधार पर विशेष जोर दिया और सौंदर्यपूर्ण भूनिर्माण जिसमें स्टेप गार्डन और पानी के फव्वारे आदि शामिल हैं।

ठोस और व्यापक कार्य योजना का दिया निर्देश

सूखे हिस्सों को हरा-भरा करने के उद्देश्य से पुनर्नवीनीकरण नालों के पानी के उपयोग पर जोर देते हुए उपराज्यपाल ने स्वच्छता और साफ-सफाई सुनिश्चित करने के लिए कचरे के पूर्ण संग्रह व निपटान पर भी जोर दिया। इस सबके के संबंध में उन्होंने अधिकारियों को अंतर-विभागीय / एजेंसी समन्वय के माध्यम से निश्चित समय सीमा के साथ एक ठोस और व्यापक कार्य योजना के साथ आने का निर्देश दिया।

Edited By: Prateek Kumar