नई दिल्ली [वीके शुक्ला]। पिछले कुछ दिनों के दौरान कोरोना वायरस संक्रमण के केस में मामूली कमी के बावजूद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में आगामी 17 मई तक लॉकडाउन बढ़ाने का एलान किया है। इसमें बड़ी बात यह है कि इस दौरान दिल्ली मेट्रो रेल निगम (Delhi Metro Rail Corporation) द्वारा संचालित ट्रेनों का परिचालन भी नहीं किया जाएगा। इस साल में यह पहला मौका है, जब दिल्ली मेट्रो का परिचालन कोरोना वायरस संक्रमण के चलते बंद हुआ है। उधर, यह चौथी बार है, जब दिल्ली में लॉकडाउन बढ़ाया गया है। बता दें कि दिल्ली में 19 अप्रैल से लॉकडाउन चल रहा है। इस बीच दिल्ली से सटे उत्तर प्रदेश में भी लॉकडाउन 17 मई तक बढ़ा दिया है। कुलमिलाकर दिल्ली और इससे सटे यूपी के शहरों नोएडा, ग्रेटर नोएडा, गाजियाबाद और हापुड़ में 17 मई तक लॉकडाउन के चलते सख्ती रहेगी।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को डिजिटल प्रेस वार्ता में कहा कि दिल्ली में संक्रमण दर अब घट रही है, मगर कोरोना के मरीज अभी अधिक आ रहे हैं। हम लॉकडाउन के पक्ष में नहीं रहे हैं, मगर मजबूरी में 19 अप्रैल को लॉकडाउन लगाया था। इस दौरान 26 अप्रैल तक 35 फीसद संक्रमण दर पहुंच गई थी और अब कम हुई है। लॉकडाउन से अब संकमण दर 23 फीसद पर आ गई है। कोरोना की चेन तोड़ने के लिए यह मजबूत उपाय है, इसलिए एक सप्ताह के लिए लॉकडाउन और बढ़ाया जा रहा है। बता दें कि लॉकडाउन 10 मई सुबह पांच बजे समाप्त होना था, लेकिन अब दिल्ली में अगले सोमवार यानी 17 मई सुबह पांच बजे तक लाकडाउन जारी रहेगा। लॉकडाउन और सख्त किया जा रहा है। सोमवार से दिल्ली में मेट्राे सुविधा बंद की जा रही है।

दिल्ली के अस्पतालों में ऑक्सीजन में सुधार

इस दौरान सीएम अरविंद केजरीवाल ने यह भी कहा कि दिल्ली में ऑक्सीजन की स्थिति सुधरी है। लोग खास कर युवा बढ़चढ़ कर टीकाकरण में भाग ले रहे हैं। सभी लोगों का मानना है , कोरोना के केस कम तो हुए हैं लेकिन अभी लॉकडाउन को बढ़ाने की जरूरत है। नहीं ताे जो अभी हासिल किया है वो भी खत्म हो जाएगा। जान है तो जहान है, जिंदगी बचेगी तो सब कर लेंगे।

Delhi Metro Commuters Alert ! 16 मई तक नहीं चलेगी दिल्ली मेट्रो, यात्रियों का लगा झटका

दिल्ली के अस्पतालों में ऑक्सीजन संकट पर अरविंद केजरीवाल ने पिछले दिनों कहा था कि अब ऑक्सीजन आ गई है, तो अब दिल्ली में किसी को अभी ऑक्सीजन की कमी नहीं होनी चाहिए। दिल्ली में जितने भी अस्पताल हैं, वे अपने बेड्स बढ़ाएं और प्रत्येक जिलाधिकारी अपने-अपने क्षेत्र में नए ऑक्सीजन बेड्स की व्यवस्था करें। साथ ही, प्रत्येक डीएम को सुनिश्चित करना है कि दिल्ली में ऑक्सीजन की कमी की वजह से किसी की भी मौत नहीं होनी चाहिए। मुख्यमंत्री श्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि अब दिल्ली को पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन मिलने लगी है, तो अब दिल्ली के अंदर जहां-जहां भी उसके वितरण में रुकावट आ रही है, उन्हें ठीक करना होगा, ताकि ऑक्सीजन की सप्लाई में किसी भी तरह की अड़चन न आए।

उन्होंने कहा कि ऑक्सीजन बेहद जरुरी है, तो उसका बड़ी कुशलता के साथ इस्तेमाल भी होना चाहिए। ऑक्सीजन किसी भी तरह से बर्बाद नहीं होनी चाहिए। हमें कोशिश करनी है कि हम ऑक्सीजन कि बर्बादी को रोकें और ऑक्सीजन को जितना बचा सकें उतना बचाएं। एक जिम्मेदार सरकार की तरह अगर हम ऑक्सीजन बचा सकें, तो हम ऑक्सीजन बचा कर केंद्र सरकार को वापस करें, ताकि वे उसका इस्तेमाल किसी और जरूरतमंद जगह पर कर सकें।