नई दिल्ली, एएनआइ। One Nation One Election (एक देश, एक चुनाव) के मामले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तरफ से बुलाई गई सर्वदलीय बैठक में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल शामिल नहीं हुए।वहीं एक साथ विधानसभा और लोकसभा चुनाव कराने (एक राष्ट्र, एक चुनाव) को लेकर चर्चा के बीच आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य और प्रवक्ता राघव चड्ढा ने संसदीय कार्यमंत्री प्रह्लाद जोशी को पत्र लिखा है।जिसमें उन्होंने इस मुद्दे पर पार्टी के विचारों को सार्वजनिक किया है।

दरअसल बुधवार को एक राष्ट्र, एक चुनाव को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी राजनीतिक दलों के प्रमुखों की बैठक बुलाई। जिसमें आप सहित देश की सभी राष्ट्रीय और पार्टियों के अध्यक्ष को शामिल होना था, लेकिन आप के राष्ट्रीय संयोजक  केजरवाल इस बैठक में शामिल नहीं हुए।

पत्र के बारे में जानकारी देते हुए राघव चड्ढा ने कहा कि हम न तो इस योजना का समर्थन करते हैं और न विरोध। लेकिन, इस बारे में चर्चा करने के लिए केंद्र सरकार के पास कोई विजन या मसौदा अवश्य होना चाहिए। इसके अलावा सरकार को इस योजना पर श्वेत पत्र जारी करना चाहिए। चड्ढा ने कहा कि जैसे जीएसटी पर सभी दलों की बैठक बुलाई गई थी जिसमें एक बुक दी गई थी।

सभी ने इस बुक के माध्यम से जीएसटी के बारे में जानकारी प्राप्त की, फिर इस पर चर्चा हुई। लेकिन, एक राष्ट्र, एक चुनाव पर चर्चा के लिए केंद्र सरकार ने कोई मसौदा पेश नहीं किया। लोकतंत्र एवं देश के संघीय ढांचे के लिए इस योजना को खतरनाक बताते हुए आप नेता ने सवाल उठाया कि यदि मोदी सरकार कुछ समय बाद विश्वास मत खो दे तो क्या देशभर में सभी राज्यों में विधानसभाओं को भंग करके दोबारा चुनाव कराए जाएंगे। आप का मानना है कि एक राष्ट्र, एक चुनाव योजना को जनता के सामने भी रखा जाना जरूरी है।

 दिल्ली-NCR की ताजा खबरों को पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Mangal Yadav