नई दिल्ली, एजेंसी। 2012 Delhi Nirbhaya Case News Update: 16 दिसंबर, 2012 को दिल्ली में हुए निर्भया मामले में एक दोषी मुकेश सिंह की दया याचिका राष्ट्रपति से खारिज होने के बाद दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने बड़ी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने समाचार एजेंसी एएनआइ से बातचीत में कहा कि आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) सरकार के अधीन सभी काम हमारे द्वारा घंटों के भीतर पूरे किए गए। हमने इस मामले से संबंधित किसी भी कार्य में देरी नहीं की। हम चाहते हैं कि दोषियों को जल्द से जल्द फांसी दी जाए।

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हर कोई चाहता है कि दोषियों को जल्द से जल्द सजा दी जाए। यह राजनीति करने का समय नहीं है। केंद्र और राज्य सरकार दोनों को यह सुनिश्चित करने का प्रयास करना चाहिए कि सभी प्रक्रियाएं पूरी हों और दोषियों को जल्द से जल्द फांसी दी जाए। केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर और स्मृति ईरानी के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए उन्होंने कहा कि एक दूसरे पर दोष लगाने से कोई फायदा नहीं होगा। हमें एक ऐसी व्यवस्था बनानी होगी, जहां बलात्कारियों को अपराध के 6 महीने के भीतर फांसी दी जाए।

उधर, निर्भया मामले पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के बयान पर निर्भया की मां ने प्रतिक्रिया में कहा कि ये बिल्कुल गलत है कि उन्होंने समय पर काम किया। अपनी पीड़ा व्यक्त करते हुए निर्भया ने कहा कि 7 साल हो गए घटना और इसके बाद 2.5 साल सुप्रीम कोर्ट का फैसला आए हो गया। इसके बाद भी 18 महीने पुनर्विचार याचिका खारिज हुए हो गया। ऐसे में जो काम जेल प्रशासन को और सरकार को करना चाहिए था वो हमने किया।

24 घंटे नजर रख रहे तमिलनाडु पुलिस के जवान

सूत्रों का कहना है कि एक सुरक्षाकर्मी को इनके पास छह घंटे से अधिक रहने नहीं दिया जा रहा है। इन्हें ऐसे सेल में रखा गया है जो सीसीटीवी कैमरे के दायरे में है। ये कैमरे न सिर्फ सेल के आसपास, बल्कि सेल की ओर आने वाली तमाम सड़कों पर भी लगी हुई हैं। सीसीटीवी फुटेज पर न सिर्फ जेल के कंट्रोल रूम में बैठे सुरक्षाकर्मी बल्कि जेल अधीक्षक स्वयं चौबीस घंटे निगाह बनाए हुए हैं। तमिलनाडु पुलिस के जवानों की ड्यूटी चौबीस घंटे इनके सेल के पास लगाई गई है।

गौरतलब है कि 16 दिसंबर, 2012 को दिल्ली के वसंत विहार इलाके में निर्भया के साथ चलती बस में छह दरिंदो (राम सिंह, एक नाबालिग, मुकेश सिंह, अक्षय सिंह ठाकुर, विनय कुमार शर्मा और पवन कुमार गुप्ता) ने सामूहिक दुष्कर्म किया था। 

Posted By: JP Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस