नई दिल्ली (जेएनएन)। माफी मांगकर अपनी राह आसान करने में जुटे दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की चाह शायद बहुत आसानी से पूरी न हो। बताते हैं कि मानहानि के ऐसे ही मुकदमे में केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली तक भी माफीनामे का संदेश भेजा गया है, लेकिन उन्होंने अभी स्पष्ट कुछ नहीं कहा है। इसका अर्थ यह निकाला जा रहा है कि शायद वह यूं ही माफ न करें।

अरुण जेटली ने केजरीवाल पर 10 करोड़ रुपये की मानहानि का मुकदमा किया है। पिछले दो दिनों में केजरीवाल चार लोगों से माफी मांगकर केस खत्म करवा चुके हैं। जब आप का राजनीतिक दांव चरम पर था तो पार्टी नेताओं ने कइयों के खिलाफ भ्रष्टाचार और ड्रग रैकेट जैसे आरोप लगाए थे। अब उन्होंने लिखित रूप में खेद जताया है।

बिक्रम सिंह मजीठिया, केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी, कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल इनमें प्रमुख हैं। सूत्र बताते हैं कि केजरीवाल ने जेटली को लिखित रूप से माफी मांगने का संदेश भिजवाया। केजरीवाल ने जेटली पर डीडीसीए में भ्रष्टाचार का आरोप लगाया था। जेटली ने केजरीवाल पर सिविल और क्रिमिनल मानहानि का मुकदमा किया है। सिविल मामले में हर्जाना भरना पड़ता है और क्रिमिनल में सजा होती है।

वहीं, उमर अब्दुल्ला (पूर्व सीएम जम्मू-कश्मीर) का कहना है कि माफी मांगकर अरविंद केजरीवाल जाहिर तौर पर कानूनी संकट से कुछ मुक्ति पा लेंगे, लेकिन किस राजनीतिक कीमत पर? अब वह जब भी किसी नेता पर आरोप लगाएंगे तो जनता क्या सोचेगी?

केजरीवाल को माफ नहीं करें जेटलीः भाजपा नेता

वहीं, भाजपा के पूर्व विधायक नरेश गौड़ ने केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली से मांग की है कि वह किसी भी हालत में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को माफ नहीं करें। छात्र राजनीति के दौरान जेटली के मित्र रहे गौड़ ने उनसे मुलाकात कर यह आग्रह किया है।

गौड़ कहते हैं कि केजरीवाल लोगों को गुमराह करने की राजनीति करते आए हैं। वह तरह-तरह के प्रयोग कर लोगों को धोखा देते हैं। माफी मांगने का उन्होंने जो खेल किया है, इसके पीछे भी लोगों को भ्रमित करने और मीडिया की सुर्खियां बटोरना ही उद्देश्य है।

केजरीवाल ने उच्च पदों पर बैठे लोगों पर झूठे आरोप लगाकर चुनाव के दिनों में राजनीतिक फायदा उठाया। अब उन्हें लगने लगा है कि अदालत में उनके झूठ की परत खुल रही है तो वह माफी का राग अलापने लगे हैं। मालूम हो कि अरुण जेटली ने भी झूठे आरोप लगाने के मामले में केजरीवाल पर मानहानि का मुकदमा दायर किया है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस