नई दिल्ली [अरविंद द्विवेदी]। दिल्ली के वसंत विहार इलाके में शुक्रवार दोपहर सेना के एक अधिकारी ने फांसी लगा ली। सेना मेंं सूबेदार पद पर तैनात उदय कुमार अपनी पत्नी के व्यवहार से परेशान था। बताया जा रहा है कि उनका पत्नी से किसी बात को लेकर मनमुटाव था। पत्नी ने घटना की सूचना पुलिस को दी। वसंत विहार थाना पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए सुरक्षित रखवा दिया है और मामले की जांच शुरू कर दी है।

जानकारी के अनुसार, मूलरूप से बिहार निवासी 35 वर्षीय उदय कुमार अपने परिवार के साथ शंकर विहार स्थित आर्मी क्वाटर में रहते थे। परिवार में पत्नी के अलावा दो बेटे शामिल है। वह सेना में सूबेदार थे।

बताया जा रहा है कि शुक्रवार दोपहर उदय दोपहर में खाना खाने के बाद अपने बेडरूम में गए। करीब तीन घंटे बाद जब पत्नी बेडरूम में गई तो देखा उदय ने उनकी चुन्नी की मदद से पंखे से लटकर आत्महत्या कर ली। पत्नी ने तुंरत अपने पड़ोसियों को इसकी जानकारी दी और उदय को पंखे से उतारकर अस्पताल पहुंचाया। जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषत कर दिया। पत्नी की सूचना के बाद वसंत विहार थाना पुलिस मौके पर पहुंची पुलिस मामले की जांच कर रही है।

एक पखवाड़े में राजधानी में 42 प्रतिशत कम हो गए अपराध

लॉकडाउन के चलते सड़कों पर जहां वाहनों की संख्या में खासी कमी आई है, वहीं राजधानी में अपराध का ग्राफ भी तेजी से नीचे आया है। एक पखवाड़े में राजधानी में अपराध के मामलों में 42 फीसद की कमी आई है। लूट और छिनैती के मामलों में भी 50 प्रतिशत से अधिक की कमी आई है। सड़क हादसों की संख्या में 60 प्रतिशत की कमी आई है। दिल्ली पुलिस द्वारा 15 मार्च से 31 मार्च के बीच दर्ज किए गए मामलों के आधार पर यहां कहा जा सकता है कि बीते वर्ष इस अवधि के मुकाबले इस वर्ष अपराध में भारी कमी आई है।

इस अवधि में वर्ष 2019 में लूट की वारदात की संख्या 109 थी, जो 2020 में घटकर 53 रह गई है। वाहन चोरी के मामलों में भी कमी आई है, लेकिन अभी भी यह संख्या एक पखवाड़े में 1200 से अधिक है। 15 मार्च से 31 मार्च 2019 तक पुलिस ने कुल 3416 मामले दर्ज किए गए थे, जबकि वर्ष 2020 में इस अवधि में दर्ज किए मामले की संख्या 1990 है।

Posted By: Mangal Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस