नई दिल्ली/इंदौर [जागरण स्पेशल]। भले ही दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने रोहित शेखर तिवारी हत्याकांड (Rohit Shekhar Tiwari murder) का खुलासा करने के बाद पत्नी अपूर्वा शुक्ला को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया हो, लेकिन अब अपूर्वा के मायके वालों ने रोहित और उज्ज्वला को लेकर की चौंकाने वाले खुलासे किए हैं। ये खुलासे जान गंवाने वाले रोहित के साथ-साथ उनकी मां उज्ज्वला शर्मा की अलग ही तस्वीर पेश कर रहे हैं।

अपूर्वा से मारपीट करता था रोहित, हनीमून पर भी नहीं छोड़ा

इंदौर की रहने वाली अपूर्वा की मां मंजुला शुक्ला की मानें तो मीडिया में सौम्य से दिखने वाले रोहित का दूसरा ही पहलू था। मंजुला का कहना है कि हनीमून के दौरान मसूरी (उत्तराखंड) में रोहित और अपूर्वा के बीच विवाद हुआ और नौबत मारपीट तक पहुंच गई थी। इसके बाद अपूर्वा ने फोन पर मुझसे कहा था कि रोहित अपने हाथ-पैर पर चोट मार ली है और मुझे रोहित से जान का खतरा है। अपूर्वा की मां ने पूरे विवाद का जिक्र करते हुए कि शादी के पांच दिन बाद ही रोहित के किसी दोस्त की हार्टअटैक से मौत हो गई तो रोहित अपूर्वा को लेकर मसूरी चला गया। यहां पर अपूर्वा और रोहित में विवाद हो गया। मारपीट की वजह से अपूर्वा को चोट भी आई थी।

15 दिन के हनीमून में विवाद घटने की बजाय बढ़ा

मंजुला का कहना है कि अपूर्वा ने कई बार फोन करके कहा था कि रोहित का व्यवहार सामान्य नहीं है। विवाद और मारपीट से परेशान अपूर्वा ने शादी के 15 दिन बाद ही अपना टिकट कराया और अपने मायके इंदौर लौट आई। इस बीच एक दिन रोहित की उज्ज्वला ने कहा- 'मैंने रोहित को समझा दिया है। अब विवाद नहीं होगा।

एक महीने के बाद ही आ गई थी अलगाव की स्थिति

मंजुला के मुताबिक, शादी के एक महीने बाद हम अपूर्वा को लेकर दिल्ली लेकर चले गए। दिल्ली में भी रोहित और उसकी मां का व्यवहार अजीब था,इसलिए एक हम रोहित के घर पहुंचे और अपूर्वा का सामान मांगा और हम अपूर्वा को वापस इंदौर ले जाने लगे। इसकी हमने पुलिस में भी शिकायत की थी। इसके बाद थाने से आए पुलिसकर्मियों ने अपूर्वा को उसका सामान दिलवाया था। हम सामान लेकर इंदौर आ गए। 

अजब था रोहित उज्ज्वला का व्यवहार

मंजुला कहती हैं- 'रिश्ता तय होने के बाद रोहित और उनकी मां उज्ज्वला का व्यवहार अजीब तरह का था। हमें यह बार-बार अहसास कराया जाता रहा कि हम लड़की वाले हैं। अपमान करने का जो सिलसिल रोहित-अपूर्वा की सगाई के दिन से शुरू हुआ वह शादी और फिर शादी के बाद तक जारी रहा।'

रोहित ने सगाई के दिन किया था  अपूर्वा को अपमानित

अपूर्वा की मां का दर्द यह भी है कि उन्हें और अपूर्वा को सगाई के दिन ही रोहित ने अपमानित किया। मेहंदी कार्यक्रम दिल्ली के रोहित के डिफेंस कॉलोनी स्थित घर में रखा गया था। कार्यक्रम के तहत सबकुछ सामान्य चल रहा था। इस बीच अचानक रोहित की सगाई वाली अंगूठी ही गुम हो गई। काफी ढूंढ़ने पर भी नहीं मिली, लेकिन इसका गुस्सा भी हम पर ही फूटा। हद तो तब हो गई जब रोहित और उसकी मां उज्ज्वला ने घर में मौजूद मेहमानों की मौजूदगी में हमारे साथ-साथ अपूर्वा को भी बुरी तरह अपमानित किया।

रिश्ता तोड़ना चाहते थे हम

मंजुला बताती हैं कि हम लोग रोहित और उज्ज्वला के अपमानित करने वाले व्यवहार से इस कदर आहत हुए थे कि हमने रिश्ता तोड़ने तक का फैसला ले लिया था। गुस्सा इतना था कि हम लोग घर से निकल कर बाहर आ गए, लेकिन वहां मौजूद मेहमानों के समझाने-बुझाने पर हम लोगों ने सगाई की। हैरानी की बात है कि उज्ज्वला बार-बार हमसे पैसे मांगती थीं। सगाई की रात भी कार्यक्रम खत्म होने के बाद पैसे मांगने लगीं और नहीं मिलने पर नाराजगी दिखाने लगीं।

रोहित के एक फोन से दिल्ली लौटी थी अपूर्वा

मंजुला का कहना है कि अपूर्वा में दिल्ली में हमारे साथ रह रही थी, लेकिन एक रोज रोहित का फोन आया कि मेरी सर्जरी हुई है। तुम मेरे पास आ जाओ। इस पर अपूर्वा दिल्ली लौट गई। कुछ दिन बाद रोहित

और उज्ज्वला ने अपूर्वा से विवाद किया। इस पर अपूर्वा एक बार फिर इंदौर लौट आई।

कुमकुम रोहित को परोसती थी शराब

मंजुला का कहना है कि कुमकुम नहीं चाहती थी कि अपूर्वा और रोहित की शादी हो। रोहित के कुमकुम के साथ अंतरंग संबंध थे। वह 24 घंटे घर में रहती है। कुमकुम राजीव प्रकाश की पत्नी है। रोहित उज्ज्वला से इस वजह से दुर्व्यवहार करता था, क्योंकि वह कहता था कि तुम्हारी वजह से मुझे 24 साल तक अपने पिता का नाम तक पता नहीं चला। कुमकुम खुद रोहित को शराब परोसती थी। इस बात की आशंका से भी इनकार नहीं कर सकते कि उसने रोहित को शराब में कुछ मिलाकर पिला दिया हो। रोहित और उज्ज्वला अपूर्वा को शराब पीने को कहते थे। वे कहते थे कि इससे तनाव कम हो जाता है। हम सब पीते हैं, तुम भी पिओ। घटना वाले दिन शाम करीब साढ़े पांच बजे मुझे अपूर्वा का फोन आया। उसने कहा कि पूजा के लिए जल्दी से पंडित को बुलाओ, रोहित के मुंह से खून आ रहा है।

उज्ज्वला ने की थी जल्दी शादी की जिद

रोहित ने माता उज्ज्वला और पिता एनडी तिवारी की तबीयत खराब होने की बात कहते हुए जल्दी शादी करने को कहा। शादी से पूर्व ही कई अवसरों पर रोहित ने अपूर्वा से खराब व्यवहार किया और हमने तय किया था कि यह शादी न हो। मंजूला के मुताबिक, उज्ज्वला ने मुझसे कहा कि तुम मुझे 11 लाख रुपये दे दो। मैंने पैसे देने के लिए प्लॉट बेच दिया, लेकिन खरीदार ने मुझे समय पर पैसा नहीं दिया। इस पर मैंने अपने पास से दो लाख रुपये मनीऑर्डर कर उज्ज्वला को भेजे। शादी में मैंने बेटी को 10 लाख का सोना भी दिया था। उज्ज्वला ने बताया था कि संपत्ति में 40 प्रतिशत सिद्धार्थ और 60 प्रतिशत रोहित का है। सिद्धार्थ के बाद उसका हिस्सा राजीव प्रकाश के बेटे को दे देंगे। मंजूला का कहना था कि जिस तरह से रोहित ने एनडी तिवारी के खिलाफ जंग लड़ी थी, हमें शुरू से डर था कि कहीं ये लोग मेरी बेटी को कहीं फंसा न दें।

दिल्ली-NCR की ताजा खबरों को पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक

Posted By: JP Yadav