नई दिल्ली [निहाल सिंह]। इस समय स्वास्थ्यकर्मी कोरोना महामारी की रोकथाम के काम में लगे हुए हैं। इन हालात में घर-घर जाकर मच्छरों के लार्वा की जांच का काम बाधित है। ऐसे में लोगों ने यदि स्वयं साफ-सफाई का ध्यान न रखा और मच्छरों को पनपने से न रोका तो मच्छरजनित बीमारियों का प्रकोप बढ़ सकता है। ऐसे में उन लोगों को ज्यादा खतरा है जो होम आइसोलेशन में हैं और घर पर अकेले ही रह रहे हैं। उन्हें क्वारंटाइन अवधि में अपने आसपास मच्छरों को नहीं पनपने देने का पूरा ध्यान रखना होगा। दक्षिणी निगम के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि यह समय अपने आप को बचाने का है। जैसे हम मास्क और शारीरिक दूरी के नियम से कोरोना से बच सकते हैं, वैसे ही अपने घर में या कार्यस्थल पर मच्छरों की उत्पत्ति न हो इसके लिए साफ-सफाई रखकर काम कर सकते हैं।

उन्होंने कहा कि हर वर्ष डोमेस्टिक ब्रीडिंग चेकर्स (डीबीसी) कर्मियों के माध्यम से हम घर में छतों की साफ-सफाई देख लेते थे, लेकिन कोरोना की वजह से डीबीसी कर्मी भी अलग-अलग कामों में लगे हैं। वहीं जो लोग चे¨कग के लिए जा भी रहे हैं तो लोग कोरोना के चलते उन्हें अपने घर में प्रवेश नहीं दे रहे हैं। ऐसे में जरूरी है कि हम अपने घर पर खुद ही साफ-सफाई रखें। क्योंकि 14 दिन के होम आइसोलेशन में अगर आप इन चीजों का ध्यान नहीं रखते हैं तो मच्छरों का प्रजनन बढ़ेगा, जिससे मच्छरजनित बीमारियां भी हो सकती है।

क्या हैं डेंगू-मलेरिया व चिकनगुनिया के लक्षण

  • तेज बुखार और शरीर में प्लेटलेट्स का कम होना
  • कमजोरी महसूस होना, भूख न लगना
  • सिर दर्द-मांसपेशियों, हड्डियों और जोड़ों में दर्द
  • उल्टी-आंखों के पीछे दर्द-ग्रर्थियों में सूजन
  • त्वचा पर लाल चकते पड़ना
  • ठंड व कंपकपी के साथ बुखार-गले में हल्का सा दर्द

क्या बरतनी चाहिए सावधानी

  • छत पर टूटे कप, गिलास, गमले आदि में पानी दो-तीन दिन से ज्यादा जमा न होने दें
  • पक्षियों को पानी पिलाने वाले बर्तन का पानी प्रतिदिन बदलें
  • कूलर में भी पानी दो दिन में बदलें-पूरी बाजू के कपड़े पहनकर सोना चाहिए

 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021