नई दिल्ली, ऑन लाइन डेस्क। दिल्ली और एनसीआर में प्रदूषण खतरनाक स्थिति में पहुंच गया है। केंद्रीय प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड के ताजा आंकड़े के अनुसार, दिल्ली में एयर क्वालिटी इंडेक्स एक हजार के पार पहुंच गया है। वहीं खराब मौसम की वजह से हवाई सेवाओं पर असर पड़ा है। 

एएनआइ के मुताबिक, खराब मौसम और कम दृष्यता (low visibility) की वजह से इंदिरा गांधी एयरपोर्ट (IGI Airport) से 32 फ्लाइटों को डायवर्ट किया गया है। टर्मिनल 3 से जयपुर, लखनऊ और अमृतसर जाने वाली 12 फ्लाइटों को डायवर्ट किया गया है।

वहीं, दिल्ली के ज्यादातर जगहों पर पीएम 2.5 का स्तर 668 और पीएम 10 का स्तर 999 पहुंच गया है। पटपड़गंज में सुबह 11 बजे तक पीएम 2.5 का स्तर 917 जबकि पीएम 10 का स्तर 999 दर्ज किया गया। वहीं, पंजाबी बाग में पीएम 2.5 का स्तर 973 जबकि पीएम 10 का स्तर 999 रिकॉर्ड किया गया। आनंद विहार में पीएम 2.5 और पीएम 10 स्तर 999 दर्ज किया गया है। उधर, आरके पुरम में पीएम 2.5 का स्तर 676 जबकि पीएम 10 का स्तर 910 दर्ज किया गया है।

 

 

सोनिया विहार में सुबह 11 बजे तक पीएम 2.5 का स्तर 668 जबकि पीएम 10 का स्तर 999 देखा गया। वहीं आइटीआइ शाहदरा और झिलमिल औद्योगिक इलाके में पीएम 2.5 और पीएम 10 का स्तर 999 रिकॉर्ड किया गया है। कुल मिलाकर दिल्ली में रविवार को हवा की गुणवत्ता बेहद खराब रही। हल्की बारिश होने के बाद भी प्रदूषण से लोगों को अभी तक राहत नहीं मिली है। हवा की  गुणवत्ता खराब होने की वजह से दृष्यता भी सुबह काफी कम रही। 

वहीं, दिल्ली से सटे नोएडा के सेक्टर 62 में पीएम 2.5 का स्तर 807 जबकि पीएम 10 का स्तर 884 दर्ज किया गया। वहीं प्रदूषण का असर गाजियाबाद में भी देखा जा रहा है। लोगों की शिकायत है कि उन्हें सांस लेने में दिक्कत और आंखों में जलन महसूस हो रही है। 

उधर, दिल्ली से सटे फरीदाबाद में भी प्रदूषण से हालात बेहद खराब रहे। यहां पर पीएम 2.5 का स्तर 484 रहा।  सुबह 6 बजे से लेकर 11 तक इसका स्तर 500 रहा। इसकी वजह से सुबह से ही आंखों में जलन हो रही है।  काफी लोग गले में इंफेक्शन की शिकायत लेकर अस्पताल पहुंच रहे हैं। 

गुरुगाम में पीएम 2.5 की मात्रा दोपहर 12:30 बजे 464 दर्ज की गई। वातावरण में सुबह से ही भारी स्मॉग है। आखों में जलन होने की शिकायत मिल रही है। सुबह बूंदाबांदी के बाद भी वायु प्रदूषण के स्तर पर कमी नहीं आयी। 

निर्माण कार्य पर 20 लाख चालान

प्रदूषण को लेकर जीरो टालरेंस की नीति के तहत कार्य कर रहा दक्षिणी दिल्ली नगर निगम ने प्रगति मैदान में चल रहे पुनर्विकास कार्य पर 20 लाख रुपये के चालान की कार्रवाई की है। निगम ने चार पांच-पांच लाख के चार अलग-अलग जिम्मेदार लोगों के चालान किए हैं। सभी को तीन दिन के भीतर जुर्माने की राशि जमा करने केा नोटिस दिया है। निगम की टीम ने एनजीटी के नियमों का हवाला देकर निर्माण कार्य से होने वाले प्रदूषण के लिए सभी को जिम्मेदार मानते हुए कार्रवाई की है।

 दिल्ली-एनसीआर की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक

Posted By: Mangal Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस