नई दिल्ली, आनलाइन डेस्क। ठंड और कोहरे में इजाफा होने के साथ ही दिल्ली-एनसीआर में वायु गुणवत्ता का स्तर भी तेजी से बढ़ रहा है। ऐसे में दिल्ली-एनसीआर के करोड़ों लोग ठंड और कोहरे के साथ वायु प्रदूषण की मार झेलने के लिए मजबूर हैं। इस बीच वायु गुणवत्ता एवं मौसम पूर्वानुमान और अनुसंधान प्रणाली (SAFAR) के मुताबिक, शनिवार को दिल्ली का वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI)  339 जो बहुत खराब श्रेणी में  आता है। ऐसी स्थिति में विशेषज्ञ लोगों को खासतौर से बच्चों को बुजुर्गों को घरों से नहीं निकलने की सलाह देते हैं।

कहा जाता है कि वायु प्रदूषण बढ़ने की स्थिति में बच्चों और बुजुर्गों के अलावा गंभीर रूप से बीमारी से जूझ रहे लोगों को खासी दिक्कत पेश आती है। वहीं, सफर इंडिया का पूर्वानुमान है कि अभी अगले तीन दिन वायु प्रदूषण के लगभग यही हालात बने रहेंगे। हवा की रफ्तार घटने, तापमान कम होने और वातावरण में नमी की मात्रा बढ़ी होने से हाल फिलहाल इसमें सुधार होने की संभावना भी नहीं है। ऐसे में विशेषज्ञों ने लोगों से सावधानी बरतने की सलाह दी है।

दिल्ली एनसीआर की वायु गुणवत्ता में नहीं सुधार

दिल्ली एनसीआर की वायु गुणवत्ता शुक्रवार को भी खराब से बहुत खराब श्रेणी में ही दर्ज की गई। बादलों और कोहरे के कारण वातावरण में स्माग छाए रहने जैसा नजारा भी दिखा। अभी अगले दो तीन दिन इसमें सुधार के आसार नहीं हैं। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) द्वारा जारी एयर क्वालिटी बुलेटिन के अनुसार शुक्रवार को दिल्ली का एयर इडेक्स 348 रिकार्ड हुआ। बृहस्पतिवार को यह 321 था। 24 घंटों के भीतर इसमें 27 अंकों की बढ़ोत्तरी और हो गई। एनसीआर के शहरों में फरीदाबाद का एयर इंडेक्स 315, गाजियाबाद का 285, ग्रेटर नोएडा का 305, गुरुग्राम का 383 व नोएडा का 319 रिकार्ड किया गया। दिल्ली में पीएम 2.5 का स्तर 170 और पीएम 10 का स्तर 283 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर रहा।

Edited By: Jp Yadav