नई दिल्ली [संजीव गुप्ता]। हवा की रफ्तार धीमी होने के साथ ही दिल्ली-एनसीआर में वायु प्रदूषण की समस्या भी गहरा गई है। वायु गुणवत्ता और मौसम पूर्वानुमान और अनुसंधान प्रणाली (SAFAR) के अनुसार राजधानी दिल्ली में हवा की गुणवत्ता खराब स्थिति में बनी हुई है। राजधानी दिल्ली में शुक्रवार सुबह वायु गुणवत्ता सूचकांक 339 है तो एनसीआर के शहरों में भी यही स्थिति है और AQI 300 के पार ही है।

इससे पहले आठ दिनों की आंशिक राहत के बाद बृहस्पतिवार को दिल्ली का एयर इंडेक्स बहुत खराब श्रेणी से वापस गंभीर श्रेणी में पहुंच गया। राजधानी दिल्ली के सभी कमोबेश 39 एयर क्वालिटी मानीरिंग स्टेशनों पर भी गंभीर श्रेणी का ही एयर इंडेक्स दर्ज हुआ। हालांकि फरीदाबाद को छोड़कर एनसीआर के शहरों का एयर इंडेक्स बहुत खराब श्रेणी में दर्ज हुआ। सफर इंडिया का पूर्वानुमान है कि बुधवार को एनसीआर के शहरों का एयर इंडेक्स भी गंभीर श्रेणी में पहुंच जाएगा। यही नहीं, अभी अगले दो तीन दिन वायु प्रदूषण की यही श्रेणी बने रहने के आसार हैं।

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के मुताबिक, बृहस्पतिवार को दिल्ली का एयर इंडेक्स 400 रहा। बुधवार के 361 के मुकाबले यह 39 अंक अधिक था। फरीदाबाद का एयर इंडेक्स 402, गाजियाबाद का 356, ग्रेटर नोएडा का 323, गुरुग्राम का 334 और नोएडा का 345 दर्ज किया गया। बुधवार के मुकाबले एनसीआर के इन सभी शहरों के एयर इंडेक्स में भी कुछ अंकों का इजाफा देखने को मिला।

बुधवार को छह प्रतिशत पराली के धुएं की हिस्सेदारी

पंजाब और हरियाणा में पिछले 24 घंटों के दौरान पराली जलाने के 219 मामले रिकार्ड किए गए। दिल्ली के पीएम 2.5 में इस धुएं की हिस्सेदारी बुधवार के छह प्रतिशत दर्ज की गई। बृहस्पतिवार को दिल्ली में पीएम 2.5 का स्तर 208 जबकि पीएम 10 का स्तर 306 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर रहा। 

Edited By: Jp Yadav