नई दिल्ली, राज्य ब्यूरो। सफदरजंग, आरएमएल व लेडी हार्डिंग मेडिकल कालेज के अस्पतालों में रविवार की ओपीडी शुरू करने के बाद अब एम्स में विशेष क्लीनिक शुरू किया जाएगा। अगले रविवार से एम्स के कार्डियक सेंटर में एंटी-कागुलेशन क्लीनिक चलेगा। जिसमें दिल की सर्जरी करा चुके मरीज या वाल्व की बीमारियों से पीड़ित पुराने मरीज अपना इलाज करा सकेंगे। इस बाबत कार्डियक सेंटर की प्रमुख डा. अनिता सक्सेना ने मंगलवार को आदेश जारी किया है।

एम्स में पहली बार रविवार को इस तरह की क्लीनिक शुरू करने का आदेश हुआ है। यह क्लीनिक सुबह नौ बजे से शाम पांच बजे तक चलेगा। इस क्लीनिक में इलाज कराने के लिए मरीज आनलाइन अप्वाइंटमेंट ले सकेंगे। इसके अलावा बगैर अप्वाइंटमेंट के भी सुबह नौ बजे से दोपहर तीन बजे तक अस्पताल पहुंचकर पंजीकरण करा सकेंगे। लिहाजा इस क्लीनिक में बगैर अप्वाइंटमेंट के भी मरीज देखे जाएंगे। लेकिन, इस क्लीनिक में गंभीर मरीज नहीं देखे जाएंगे। सिर्फ वही मरीज देखे जाएंगे उनकी हालत स्थिर होगी।

एम्स द्वारा जारी आदेश में कहा गया है कि दिल की सर्जरी व वाल्व बदलने के बाद मरीजों को बार-बार अस्पताल में फालोअप जांच के लिए पहुंचना पड़ता है। उन मरीजों को खून पतला करने की दवाएं भी चल रही होती हैं। इसलिए उन मरीजों की सुविधा के लिए यह पहल की गई है। इस क्लीनिक में कार्डियक सर्जरी के दो वरिष्ठ रेजिडेंट डाक्टर मौजूद रहेंगे, वरिष्ठ डाक्टर की देखरेख में इलाज करेंगे।

मरीजों की इकोकार्डियोग्राफी व अन्य जरूरी जांच के लिए कार्डियोलाजी, कार्डियो रेडियोलाजी व बायोकेमिस्ट्री के डाक्टर भी उपलब्ध रहेंगे। इस क्लीनिक में रोस्टर के आधार पर डाक्टरों की ड्यूटी लगाई जाएगी। इलाज के दौरान यदि किसी मरीज को प्रोसिजर करने की जरूरत महसूस हुई तो उसे संबंधित कार्डियक सर्जन के पास भेजा जाएगा। उल्लेखनीय है कि हाल ही में एम्स में निशुल्क जेनरिक मेडिसन स्टोर रविवार को खुला रखने का फैसला किया गया था।

Edited By: Prateek Kumar