नई दिल्ली, राज्य ब्यूरो। एम्स में पिछले कुछ दिनों से बच्चों पर कोरोना के टीके का ट्रायल चल रहा है। इसके तहत 12 से 18 साल की उम्र के कई बच्चों को कोवैक्सीन के टीके की पहली डोज दी जा चुकी है। इसी क्रम में मंगलवार और बुधवार को दो दिन छह से 12 साल की उम्र के बच्चों की स्क्रीनिंग की जाएगी। इस टीके के ट्रायल में शामिल होने के इच्छुक माता-पिता बच्चों को लेकर एम्स में पहुंच सकते हैं। बच्चों की स्क्रीनिंग के बाद टीका लगाया जाएगा।

पहले सोमवार को स्क्रीनिंग की तैयारी थी लेकिन अब कार्यक्रम में बदलाव किया गया है। दरअसल, देश के कई अस्पतालों में दो से 18 साल की उम्र के 525 बच्चों पर कोवैक्सीन का ट्रायल होना है। इसके तहत बच्चों को तीन वर्गों में बांट कर यह ट्रायल चल रहा है। पहले 12 से 18 साल की उम्र के बच्चों को टीके की पहली डोज दी गई है।

एम्स में कोवैक्सीन टीके के ट्रायल के प्रभारी डा. संजय राय ने कहा कि अब छह से 12 साल के बच्चों की स्क्रीनिंग की जाएगी। इस दौरान बच्चों की आरटीपीसीआर, एंटीबाडी सहित कई तरह की जांच की जाएगी। इस उम्र के बच्चों को टीका लगने के बाद दो से छह साल की उम्र के बच्चों की स्क्रीनिंग की जाएगी।

दिल्ली में युवाओं के लिए कोवैक्सीन का दो दिन और कोविशील्ड का एक दिन से भी कम का स्टाक बचा

वहीं, दिल्ली में युवाओं के लिए कोवैक्सीन का दो दिन और कोविशील्ड का एक दिन से भी कम समय का स्टाक बचा है। दिल्ली सरकार ने केंद्र सरकार से दिल्ली के युवाओं के लिए वैक्सीन का पर्याप्त स्टाक सुनिश्चित करने की अपील की है। 18 से 44 वर्ष के युवाओं के लिए 10,34,910 वैक्सीन की डोज मिली हैं, जिसमें से 61 हजार डोज अभी उपलब्ध हैं। जिसमें कोवैक्सीन की करीब 18 हजार और कोविशील्ड की करीब 43 हजार डोज उपलब्ध हैं। कोवैक्सीन केवल दूसरी डोज के लिए ही उपयोग की जा रही है।

45 वर्ष से अधिक उम्र के लिए 11 दिन का कोवैक्सीन और 24 दिन का कोविशील्ड का स्टाक उपलब्ध है। दिल्ली को 45 वर्ष से अधिक उम्र की श्रेणी के लिए शनिवार को कोवैक्सीन की 72,800 डोज मिली हैं। दिल्ली में 12 जून को 83,113 लोगों को वैक्सीन की डोज लगाई गई। जिसमें 54,788 लोगों को पहली और 28,325 लोगों को दूसरी डोज लगाई गई है। दिल्ली सरकार की ओर से रविवार को टीकाकरण बुलेटिन जारी करते हुए आम आदमी पार्टी की नेता व विधायक आतिशी ने कहा कि जैसे ही युवाओं के लिए टीकाकरण शुरू होता है वैसे ही इस कार्य की गति बढ़ जाती है।

 

Edited By: Mangal Yadav