नई दिल्ली [राकेश कुमार सिंह]। जैश-ए-मुहम्मद ने पुलवामा हमले के बाद दिल्ली-एनसीआर सहित पूरे देश को दहलाने की साजिश रच रखी थी। यह बात राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआइए) ने पटियाला हाउस की विशेष अदालत में दायर आरोप पत्र में कही है। एनआइए ने पुलवामा हमले के मास्टरमाइंड मुद्दसिर के करीबी सज्जाद अहमद खान सहित जैश-ए-मुहम्मद के चार सदस्यों के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल कर दिया है।

सज्जाद को दिल्ली से गिरफ्तार किया गया था। देशद्रोह और यूएपीए की विभिन्न धाराओं के तहत दायर किए गए आरोप पत्र में कहा गया कि जैश-ए-मुहम्मद ने पूरे देश में हमले करने की योजना तैयार की थी। पुलवामा में 14 फरवरी को सीआरपीएफ के काफिले पर हमला करने के बाद आतंकी संगठन का हौसला बढ़ गया था। इसके बाद राजधानी को निशाना बनाने की योजना थी। मुद्दसिर मार्च 2019 में एनकाउंटर में मारा गया था।

विशेष अदालत में दायर आरोप पत्र में जैश ए मुहम्मद के सदस्य सज्जाद अहमद खान (27), तनवीर अहमद (29), बिलाल अहमद मीर (23) और मुज्जफर अहमद भट्ट (25) को नामजद किया गया है, सभी पुलवामा के रहने वाले हैं।

आरोप पत्र में कहा गया है कि पुलवामा हमले की पूरी योजना मुद्दसिर ने बनाई थी। उसके बाद अब उसका करीबी सज्जाद अहमद खान मुख्य आरोपित है। सज्जाद और भट्ट सीधे मुद्दसिर के संपर्क में थे, जबकि तनवीर और बिलाल सज्जाद के जरिये मुद्दसिर के संपर्क में थे।

तनवीर व बिलाल पुलवामा जैसा ही फिदायीन हमला करना चाहते थे। सज्जाद के दो बड़े भाई जैश के सदस्य थे, जो एनकाउंटर में मारे गए थे। इसके बाद वह जैश से जुड़कर दिल्ली-एनसीआर में जैश के सदस्यों को प्रशिक्षित करने लगा। इसी दौरान दिल्ली पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया था। यहां पर वह मुद्दसिर के आदेश पर शॉल का व्यापारी बन अपनी योजना पर काम कर रहा था।

सज्जद तैयार कर रहा था स्लीपर सेल : एनआइए

एनआइएआरोप पत्र में कहा गया कि सज्जाद दिल्ली में रहकर स्लीपर सेल तैयार करना चाहता था, जो फिदायीन हमले कर सकें। उसे आदेश था कि उत्तर प्रदेश और कश्मीर के ऐसे युवाओं की तलाश कर उन्हें प्रशिक्षण दे। जिस दिन पुलवामा हमला हुआ था, उस दिन मुद्दसिर ने वाट्सएप पर सज्जाद से बात की थी और हमले के बारे में जानकारी दी थी। उसे फिदायीन हमले को अंजाम देने वाले आदिल का वीडियो भी भेजा था, जिसे बाद में डिलीट कर दिया था।

दिल्ली-NCR की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक

Posted By: JP Yadav

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप