नई दिल्ली [रणविजय सिंह]। दिल्ली-एनसीआर समेत देशभर में कोरोना की लहर तेजी से लोगों को अपनी चपेट में ले रही हैं। कोरोना का नया वैरिएंट ओमिक्रोन तकरीबन 5 गुना तेज गति से फैल रहा है और लोगों को संक्रमित कर रहा है। ऐसे में अगर आपने अब भी कोरोना रोधी टीका नहीं लगवाया है तो यह पूरी खबर पढ़ने के जरूर आप इसके लिए बाध्य हो जाएंगे। दरअसल, राजधानी दिल्ली में टीका नहीं लेने वालों पर तीसरी लहर में कोरोना भारी पड़ रहा है। दिल्ली में हाल के दिनों में कोरोना वायरस संक्रमण से जान गंवाने वाले मरीजों की मौत के मामलों की समीक्षा में यह बात सामने आई है कि 73.61 फीसद मरीजों को कोरोना टीका नहीं लगा था। वहीं 13.19 फीसद मृतकों को सिर्फ एक डोज टीका लगा था।

यह आंकड़े बताते हैं कि टीका कोरोना की मौजूदा लहर में कोरोना से जान बचा रहा है। इस लिहाज से मृतकों में ज्यादातर ऐसे हैं जिन्हें कोरोना का टीका नहीं लगा थ।दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य विभाग ने पांच से 12 जनवरी के बीच कोरोना से मरे 144 मरीजों की मौत के कारणों की समीक्षा की है। इसमें यह बात सामने आई है कि 106 मरीजों ने टीका नहीं लिया था। 19 मरीजों को सिर्फ एक डोज टीका लगा था, जबकि 19 मरीजों की दोनों डोज टीका लेने के बावजूद मौत हो गई। इसका कारण कैंसर, दिल, किडनी व लिवर की गंभीर बीमारी बताई जा रही है।

उल्लेखनीय है कि पिछले दिनों यह बात सामने आई थी कि कोरोना से मरने वाले करीब 74 प्रतिशत मरीजों को दूसरी गंभीर बीमारी थी। इस वजह से दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य सेवा महानिदेशालय ने सभी सरकारी व निजी अस्पतालों को निर्देश दिया है कि किसी दूसरी गंभीर बीमारी से पीड़ित कोरोना संक्रमित मरीजों के इलाज में विशेष ध्यान दिया जाए और विशेषज्ञ डाक्टर उनकी इलाज करें।  

जानिये क्यों लगवाएं टीका

विशेषज्ञों का मानना है कि लोगों के शरीर में मौजूद कोरोना वायरस संक्रमण को कोरोना रोधी टीका कमजोर करने में सफल साबित होता है और इंसान के शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाता है जिससे कि शरीर में एंटीबाडी बनती है और यह दूसरे वायरस से मुकाबला करने में भी मदद करता है। अध्ययन बताते हैं कि  वैक्सीन का एक टीका इंसानी शरीर में एंटीबाडीज को 4 गुना तक बढ़ाने में मददगार साबित होता है। दरअसल, जो लोग कोरोना रोधी टीका लेते हैं, उनमें कोरोना वायरस गंभीर नुकसान नहीं पहुंचाता है। जाहिर है कि ऐसे में जान जाने का खतरा बहुत कम होता है।

Edited By: Jp Yadav