नई दिल्ली (जेएनएन)। कानून की छात्रा से दिल्ली हाई कोर्ट परिसर में एक वकील के चैंबर में दुष्कर्म का मामला सामने आया है। पुलिस ने आरोपित वकील को गिरफ्तार कर लिया है। उसकी पहचान सुजीत कुमार मिश्रा के रूप में हुई है। उसे तीन दिन की पुलिस रिमांड पर लिया गया है।  आरोपी वकील दिल्ली सरकार के वकीलों के पैनल में शामिल है और दिल्ली हाई कोर्ट में वकील है।

छात्रा (21) का आरोप है कि सुजीत उसे दो साल पहले अहमदाबाद (गुजरात) लेकर गया था और वहां होटल में दुष्कर्म कर तस्वीरें खींच लीं। इसके बाद करियर बर्बाद करने की धमकी देकर ब्लैकमेल करता रहा। दो साल में हाई कोर्ट परिसर में चैंबर के अलावा दिल्ली में अलग-अलग जगहों पर ले जाकर दुष्कर्म किया।

युवती ने शादी करने के लिए कहा तो उसने दो बच्चों का पिता होने का हवाला देते हुए इससे इनकार कर दिया। इसके बाद पीड़िता ने बीते दिनों तिलक मार्ग थाने में मुकदमा दर्ज कराया। पुलिस के मुताबिक सुजीत कुमार मिश्रा (42) मूलरूप से बिहार के दरभंगा जिले का रहने वाला है। वह पहले मंडावली में रहता था, लेकिन इस समय फरीदाबाद में रह रहा है।

पीड़िता मूलरूप से उत्तराखंड की रहने वाली है और दिल्ली में वसंतकुंज इलाके में एक शिक्षण संस्थान के परिसर में रहती है। उनके पिता वहां नौकरी करते हैं। कानून की पढ़ाई करने के दौरान वर्ष 2015 में युवती हाई कोर्ट में एक वकील के पास दो महीने के लिए इंटर्नशिप करने गई थीं, तभी उनका परिचय सुजीत से हुआ था।

इस दौरान युवती का नंबर लेकर उसने बातचीत शुरू कर दी थी। करियर संवारने की बात कह अपने पास इंटर्नशिप करने का ऑफर दिया। वर्ष 2016 में सुजीत ने युवती को फोन कर नोट्स देने के बहाने नेहरू प्लेस में बुलाया और वहां छेड़खानी की। विरोध जताने पर गलती मान ली और कहा कि वह परीक्षा खत्म होते ही इंटर्नशिप करने के लिए उसके पास आ जाएं। वह 10 हजार रुपये महीने भी देगा।

इस बीच जुलाई, 2016 में मुवक्किल से मीटिंग का बहाना बनाकर युवती को अहमदाबाद चलने को कहा। युवती ने जब परिजनों से अनुमति न मिलने की बात कही तो उसने कहा कि सुबह फ्लाइट से जाएंगे और शाम को लौट आएंगे। उसने आने-जाने का टिकट दिखाया तो पीड़िता तैयार हो गई।

होटल के मैनेजर से फोन करवाया कि कमरा खाली नहीं है
अहमदाबाद के एक होटल में सुजीत ने सुबह एक कमरा बुक कराया। शाम हो जाने पर कहा कि उसके कुछ काम बचे रह गए हैं, इसलिए टिकट रद कराने पड़े। रात हो जाने पर युवती ने खुद के लिए दूसरा कमरा बुक करवाने को कहा। उसने होटल के मैनेजर से युवती के पास फोन करवाकर कहलाया कि कमरा खाली नहीं है। अगले दिन सुबह उसने युवती के साथ दुष्कर्म किया और तस्वीरें भी खींच लीं। युवती रोने लगी तो उसने गलती मान ली और कहा कि वह लंदन जाने वाला है। उसके पास अहमदाबाद और दिल्ली में कई केस हैं। सब कुछ वह उन्हें सौंप देगा, लेकिन दिल्ली आने के बाद भी ब्लैकमेल कर दुष्कर्म करता रहा।

बता दें कि इससे दिल्ली के ही साकेत कोर्ट परिसर 54 वर्षीय एक वकील ने ही 32 वर्षीय अपनी जूनियर महिला वकील के साथ दुष्कर्म किया था।

काम के बहाने चेंबर में बुलाया था

महिला वकील का आरोप है कि उसके सीनियर वकील ने काम के बहाने उसे अपने चेंबर में बुलाया था। यहां उसे नशीला पेय पिलाकर सीनियर वकील ने उसके साथ दुष्कर्म किया। महिला वकील का मेडिकल कराने के बाद साकेत थाना पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर ली। साथ ही आरोपित वकील को संगम विहार से गिरफ्तार भी कर लिया गया है। 

फॉरेंसिक जांच के लिए चेंबर सील

महिला ने बताया कि उसके सीनियर वकील पीके लाल ने किसी काम से उसे चेंबर में बुलाया था। यहां उसे पीने के लिए कुछ दिया गया। उसमें कुछ नशीला पदार्थ मिला हुआ था, जिससे वह बेसुध हो गई। इसके बाद चेंबर के अंदर ही उसके साथ दुष्कर्म किया गया।

वहीं, डीसीपी रोमिल बानिया ने बताया कि  जिस चैंबर में दुष्कर्म किया गया है, उसे सील कर दिया गया है। फॉरेंसिक और क्राइम टीम ने घटना स्थल का निरीक्षण कर साक्ष्य जुटाए।

Posted By: JP Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस