नई दिल्ली (जेएनएन)। गुजरात के वलसाड से भाजपा के सांसद डॉ. केसी पटेल को हनी ट्रैप में फंसाकर पांच करोड़ रुपये की मांग करने के मामले में आरोपी महिला से पूछताछ में पुलिस को कई चौंकाने वाली जानकारी मिली हैं। अब तक वह तीन नेताओं को हनी ट्रैप के जाल में फंसाकर उनसे करीब 25 करोड़ रुपये की उगाही कर चुकी है।

वहीं, पुलिस को शक है कि उसने और कई नेताओं व बिजनेसमैन को भी अपना शिकार बनाया है। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि जल्द ही उनके नाम का पता चल जाएगा, इसके बाद उनसे संपर्क किया जाएगा।

पुलिस को महिला से पूछताछ में पता चला है कि वह लोकसभा की वेबसाइट से उम्रदराज सांसदों व पूर्व सांसदों के फोन नंबर हासिल करती थी। इसके बाद फोन पर बात कर किसी काम का बहाना बना उनसे मिलने के लिए समय मांगती थी।

जल्द मेलजोल बढ़ाने के बाद वह किसी बहाने सांसदों को इंदिरापुरम स्थित अपने फ्लैट पर बुलाती थी। उसने अपने कमरे में खुफिया कैमरे लगा रखे थे। सांसदों को नशीला पदार्थ मिला शीतलपेय या चाय पिलाने के बाद वह उनके साथ अश्लील वीडियो बना लेती थी, फिर खुद उनको घर तक छोड़कर आती थी।

पुलिस को शक है कि आरोपी महिला या तो किसी गिरोह से जुड़ी है या खुद गिरोह संचालित करती है। उससे एक युवती समेत 6 लोगों के जुड़े होने की जानकारी पुलिस को मिली है। पुलिस को शक है कि उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर के बदमाश भी इस हनी ट्रैप में शामिल हो सकते हैं। पुलिस इन सबके बारे में पता लगा रही है, ताकि उन्हें भी दबोचा जा सके।

डिग्रियों की भी जांच करेगी पुलिस

मूलरूप से उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर की रहने वाली 30 वर्षीय आरोपी महिला पांच साल पहले राजस्थान पब्लिक सर्विस कमीशन की तैयारी करने दिल्ली आई थी। उसके पास एमए (अंग्रेजी), एमए (राजनीतिक विज्ञान), एलएलबी व एलएलएम की डिग्री है। पुलिस ने जब उसे अंग्रेजी में कुछ लिखने के लिए कहा तो वह नहीं लिख पाई। ऐसे में पुलिस को शक है कि वह अधिक पढ़ी-लिखी नहीं है। पुलिस उसकी सभी डिग्रियों की जांच करेगी। सभी डिग्री उसने मुजफ्फरनगर से हासिल की है।

साथ लेकर चलती थी खुफिया कैमरे

पुलिस का कहना है कि आरोपी महिला अपने साथ 3-4 खुफिया कैमरे लेकर चलती थी। उसके चश्मे व पेन में कैमरे होते थे। उसकी निशानदेही पर इंदिरापुरम स्थित उसके घर से कुछ सीडी व ऑडियो क्लिप बरामद की गई है।

आरोप-प्रत्यारोप की हो रही जांच

आरोपी महिला का दावा है कि भाजपा सांसद डॉ. केसी पटेल ने उसे अपने आवास पर बुलाया था। 3 मार्च को वह सांसद को लेने आइजीआइ एयरपोर्ट गई थी और उसी दिन उसके साथ नॉर्थ एवेन्यू स्थित सांसद के आवास पर दुष्कर्म किया गया। इसके बाद इंदिरापुरम स्थित उसके घर पर भी उन्होंने उसके साथ दुष्कर्म किया। वहीं, भाजपा सांसद का कहना है कि महिला ने उनसे 6 महीने पहले संपर्क किया था। शिकायत में उन्होंने एक अन्य युवती का भी नाम लिया है। आरोपी महिला का कहना है कि वह उसे नहीं जानती है।

अपने फेसबुक पेज पर लगा रखी है कल्याण सिंह के साथ खींची फोटो

आरोपी महिला ने अपने फेसबुक पेज पर वरिष्ठ भाजपा नेता व राजस्थान के राज्यपाल कल्याण सिंह के साथ खींची हुई कई तस्वीरें लगा रखी हैं। पुलिस पता लगाएगी कि यह उन्हें कैसे जानती है। अबतक की जांच में पता चला है कि आरोपी महिला की दिल्ली के अलावा उत्तर प्रदेश व उत्तराखंड के कई भाजपा नेताओं से अच्छी जान पहचान है। पुलिस उसके फेसबुक प्रोफाइल व मोबाइल कॉल डिटेल की जांच कर उनके बारे में पता लगाने की कोशिश कर रही है।

विशेष आयुक्त (दिल्ली पुलिस) मुकेश कुमार मीणा का कहना है कि यह संगठित गिरोह है। इस गिरोह के निशाने पर हाईप्रोफाइल लोग होते थे। पुलिस गिरोह के सभी सदस्यों की पहचान कर उन्हें दबोचने में जुट गई है। अबतक तीन सांसदों से उगाही करने की बात सामने आई है। अगर इस महिला को नहीं पकड़ा जाता तो कई और सांसद उसका शिकार बन सकते थे।

हरक सिंह रावत व शादीलाल बत्रा पर भी दर्ज कराया था दुष्कर्म का केस

भाजपा सांसद डॉ. केसी पटेल को हनी ट्रैप में फंसाकर उनसे उगाही करने की कोशिश में गिरफ्तार हुई महिला हरियाणा से कांग्रेस के राज्यसभा सदस्य शादीलाल बत्रा व उत्तराखंड के भाजपा नेता एवं पूर्व मंत्री हरक सिंह रावत पर भी दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज करा चुकी है। दोनों ही मामले में बाद में वह अदालत में अपने बयान से पलट गई थी और केस वापस ले लिया था। 2014 में महिला ने रावत के खिलाफ सफदरजंग थाने में दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज कराया था।

Posted By: JP Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस