नई दिल्ली (जेएनएन)। वर्ष 2015 में दिल्ली विधानसभा चुनाव में एतिहासिक जीत के साथ सरकार बनाने वाली आम आदमी पार्टी (AAP) ने बुधवार को तीन साल पूरे कर लिए। इस मौके पर नई दिल्ली नगरपालिका परिषद (एनडीएमसी) कन्वेंशन सेंटर में आयोजित कार्यक्रम में AAP सरकार के तीन साल पूरे होने पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने गिनाईं उपलब्धियां। उन्होंने कहा कि देश की आजादी के बाद उनकी सरकार के समय सबसे अधिक काम हुआ। यहां पर बता दें कि दिल्ली में अरविंद केजरीवाल सरकार के आज यानी 14 फरवरी को 3 साल पूरे हो गए हैं। तीन साल पहले 14 फरवरी, 2015 को वैलेंटाइन डे पर ही 70 में से 67 सीटें जीतकर आम आदमी पार्टी सरकार ने शपथ ली थी।

सिर्फ तीन साल में किया 70 साल वाला काम

NDMC के कन्वेंशन सेंटर में आयोजित कार्यक्रम में केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली सरकार ने शिक्षा और स्वास्थ्य में अभूतपूर्व कार्य किया है। अपनी सरकार की उपलब्धियों को गिनाते हुए केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में जो 70 साल में काम हुए, उतना उनकी सरकार ने सिर्फ 3 साल के कार्यकाल में कर दिखाया।

इस दौरान सीएम केजरीवाल ने स्वास्थ्य के अलावा सरकारी स्कूलों में शिक्षा के स्तर में सुधार, किफायती बिजली और किसानों के लिए बढ़े हुए मुआवजे का खास जिक्र किया।

दिल्ली सरकार के सभी अस्पतालों में दवाइयां मिल रहीं मुफ्त

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल के मुताबिक, दिल्ली पहला राज्य है जहां अगर आप को इलाज व ऑपरेशन के लिए सरकारी अस्पताल में तारीख नहीं मिलती है तो प्राइवेट अस्पताल में इलाज करा सकते हैं। दिल्ली सरकार के सभी अस्पतालों में दवाइयां फ्री की गई हैं।

केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में जगह-जगह बने मोहल्ला क्लीनिक स्वास्थ्य के क्षेत्र में मील का पत्थर साबित हो रहे हैं। शिक्षा के क्षेत्र में भी बहुत काम किया गया है। दिल्ली सरकार ने कुल बजट का 25 फीसद शिक्षा पर खर्च किया। स्कूलों में 8 हजार नए कमरे बनाए गए। नए स्कूल खोले गए। उनकी सरकार के समय परीक्षा परिणाम बेहतर हुआ है।

वहीं, आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता दिलीप पाण्डेय ने कहा कि सरकार ने 3 सालों में ही घोषणा पत्र के लगभग 90 फीसद से भी अधिक काम करके अपने गवर्नेंस का लोहा मनवाया है। थोड़ा-बहुत काम जो बाकी है, वो अगले दो सालों के अंदर निश्चित रूप से पूरा किया जाएगा। तमाम मुश्किलों और अड़चनों के बावजूद दिल्ली की सरकार काफी काम कर पाई है।

उन्होंने हमलावर अंदाज में कहा कि भारतीय जनता पार्टी के तमाम प्रयास सिर्फ आप सरकार के गवर्नेंस की लकीर को मिटाने में लगे, जबकि दिल्ली सरकार ने समय की चट्टान पर अमिट रहने वाली गवर्नेंस की लकीर खींच कर सही मायनों खुद को आम आदमी की सरकार साबित किया है।

बताया जा रहा है कि आम आदमी पार्टी सरकार पूरा होने के मौके पर अरविंद केजरीवाल एक गाना भी लॉन्च करेंगे। इस गाने में बताया गया है कि 3 साल में आम आदमी पार्टी की सरकार ने कितना और क्या काम किया और आगे भी क्या करेंगे। गाने का बोल लिखा है आप नेता दिलीप पांडेय ने और संगीत और गायक हैं विशाल ददलानी।

यह है गीत

पूरी बहुमत देकर देखी, आम आदमी की ताकत देखी

काफी कुछ बदला, और बदलेंगे दिल्ली का हाल

अभी हुआ तीन साल केजरीवाल, अब होगा शानदार 5 साल केजरीवाल

मांगे दिल्ली दिल से... मोहल्ला क्लिनिक फिर से

पानी बिल मुफ्त, बिजली आधा

दिल्ली से निभाया केजरीवाल ने वादा।

वहीं, सीएम केजरीवाल ने तीन साल पूरा होने पर ट्वीट भी किया है। इसमें उन्होंने लिखा है-'तीन साल पहले दिल्ली के लोगों ने एक ईमानदार सरकार बनाई थी।... अब एक एक पैसा जनता के विकास पे ख़र्च हो रहा है।बिजली, पानी, स्कूल, मोहल्ला क्लीनिक, सड़कें, फ़्लाइओवर..' दिल्ली में तीन साल पूरा कर रही आम आदमी पार्टी ने भी ट्वीट कर अपनी सरकार की उपलब्धियां गिनाई हैं।'

आम आदमी पार्टी के ट्वीट की मुख्य बातें

1. हमने बिजली कंपनियों की सीएजी जांच कराई, जिससे कंपनियों में हड़कंप मच गया।

2. हमने बिल में 50 फीसदी की कटौती की, बिजली की घंटों कटौती को बंद किया और बिजली कंपनियों पर जुर्माना लगाया।

3. हमने तीन साल में बिजली दरों में कोई वृद्धि नहीं की।

4. AAP की सरकार आते ही दिल्ली महिला आयोग सक्रिय हो गया।

5. सरकार ने महिला आयोग में जान फूंक दी।

30 साल पीछे चली गई दिल्लीः मनोज तिवारी

दिल्लीवासियों से किए गए 90 फीसद वादे पूरे करने के आम आदमी पार्टी (AAP) की सरकार के दावे को भाजपा ने झूठ करार दिया है। उसका कहना है कि लोगों से किए गए दस फीसद वादे भी पूरे नहीं हुए हैं। दिल्ली प्रदेश भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा कि अरविंद केजरीवाल सरकार में फैले भ्रष्टाचार की वजह से दिल्ली तीन वर्षों में 30 साल पीछे चली गई है। दिल्ली वाले इस सरकार को शहरी नक्सलवादियों की सरकार के तौर पर देखती है। दिल्ली में विकास पूरी तरह ठप है, मंत्रियों व विधायकों की अराजकता व भ्रष्टाचार से लोग त्रस्त हैं।

विपक्ष का आरोप- 10 फीसद वादे भी नहीं पूरे किए केजरीवाल सरकार ने

वहीं, दिल्ली विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष विजेंद्र गुप्ता ने कहा कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उनके साथी सरकार चलाने के आधारभूत सिद्धांतों पर नहीं चलना चाहती है। भारतीय संविधान, दिल्ली सरकार और दिल्ली विधानसभा के नियमों, कानून व परंपराओं की अनदेखी उनकी आदत में शुमार हो गई है। इसी कारण उन्होंने प्रधानमंत्री, उपराज्यपाल, चुनाव आयोग जैसे संवैधानिक संस्थाओं और पदों पर भी अमर्यादित टिप्पणी की है।

प्रेस वार्ता में उन्होंने कहा कि आप सरकार ने पिछले तीन वर्ष के कार्यकाल में भ्रष्टाचार, भाई भतीजावाद, वीआइपी संस्कृति, फर्जीवाड़ा के कई उदाहरण प्रस्तुत किए हैं। केजरीवाल ने मुख्यमंत्री की शपथ लेते हुए दिल्ली को भ्रष्टाचार मुक्त करने का एलान किया था।

इसके विपरीत हवाला मामले के आरोपी मंत्री सत्येंद्र जैन मुख्यमंत्री के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चल रहे हैं। इसी प्रकार से वक्फ बोर्ड में भ्रष्टाचार के आरोपी विधायक अमानतुल्लाह खान को फिर से बोर्ड का अध्यक्ष बनाने की हरसंभव कोशिश की गई।

सरकार के मंत्री संदीप कुमार, जितेंद्र सिंह तोमर और असीम अहमद खान के कारनामों के कारण दिल्ली को शर्मसार होना पड़ा। अनधिकृत कॉलोनियों और ग्रामीण इलाकों में पानी अभी तक नहीं पहुंचा है। तीन साल में पानी की दरें एक-तिहाई बढ़ गई।

हर मुद्दे पर खुली AAP सरकार की पोलः अजय माकन

दिल्ली प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय माकन ने कहा कि शिक्षा, स्वास्थ्य, परिवहन सहित हर मोर्चे पर आम आदमी पार्टी सरकार विफल रही है। हमने तथ्यों के साथ इसे प्रस्तुत किया है। चाहे स्कूलों का मामला हो या महिला सुरक्षा का या अन्य मामले, हर मुद्दे पर केजरीवाल सरकार की पोल खुली है।

स्वराज इंडिया के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष अनुपम ने आरोप लगाया कि केजरीवाल सरकार तीन साल में महिला सुरक्षा पर पूरी तरह से विफल रही है। महिला सुरक्षा को लेकर आंदोलन करने वाली पार्टी की सरकार में महिलाएं असुरक्षित हैं। सरकार को बताना चाहिए कि महिला सुरक्षा दल बनाने, बसों में सीसीटीवी कैमरे लगाने, डीटीसी में मार्शल की तैनाती और लास्ट माइल कनेक्टिविटी के वादे पूरे करने के लिए क्या किया है। 

यह भी पढ़ेंः अब नामी हॉलीवुड एक्टर को भी केजरीवाल सरकार ने दिया नोटिस, जानें पूरा मामला

यह भी पढ़ेंः 'आप' की सरकार के 3 साल, विपक्ष ने दागे तीखे सवाल, ये है महिला सुरक्षा का हाल

Posted By: JP Yadav