नई दिल्ली [अरविंद कुमार द्विवेदी]। मासूम बच्चियों और महिलाओं-युवतियों के साथ हो रही दुष्कर्म की घटनाओं के बीच देशभर में धरना-प्रदर्शन का दौर जारी है। इस बीच शनिवार दोपहर में दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल के सामने हंगामा हो गया। यहां पर एक महिला दुष्कर्म आरोपियों के खिलाफ प्रदर्शन कर रही थी। इसी दौरान उसने अचानक अपनी 8 साल की बच्ची पर पेट्रोल छिड़क दिया। इसके बाद आग लगाने वाली थी, लेकिन वहां मौजूद पुलिसकर्मियों ने तुरंत उसको पकड़ लिया। इसके बाद सहमी बच्ची को अस्पताल पहुंचाया गया है। पुलिस ने मां की हिरासत में ले लिया है और उसे थाने ले जाकर पूछताछ कर रही है। 

वहीं, महिला का कहना था कि अगर बच्ची बड़ी होकर दुष्कर्म का शिकार बने और कोई और उसे जलाए। ऐसे में उससे अच्छा है आज मैं ही उसे जला दूं। 

उधर, महिला का यह भी कहना है कि उसके साथ भी दुष्कर्म हुआ है, लेकिन सालों बीतने के बाद भी उसे इंसाफ नहीं मिला है। वहीं, पुलिस सूत्रों का कहना है कि महिला मानसिक रूप से विक्षिप्त है।

वहीं, पिछले दिनों पार्लियामेंट के बाहर प्रदर्शन कर चर्चा में आई अनु दुबे का कहना है कि महिला का यह विरोध का तरीका सही है। 

गौरतलब है कि उन्नाव में दरिंदगी की शिकार और जली हालत में भर्ती युवती की दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में शुक्रवार रात को मौत हो गई।

वहीं, हैदराबाद एनकांटर के बाद वसंत विहार सामूहिक दुष्कर्म सहित अन्य मामलों के आरोपितों के खिलाफ जल्द से जल्द फांसी देने की मांग उठ गई है। इसे लेकर शुक्रवार को भी जंतर-मंतर पर कई संगठन जुटे रहे। इसमें दिल्ली तेलुगु महिला संगठन ने भी प्रदर्शन कर दुष्कर्म के आरोपितों को जल्द ही फांसी की सजा देने की मांग की। वहीं, हैदराबाद में आरोपितों के एनकाउंटर की खबर के बाद कई लोग हैदराबाद पुलिस का धन्यवाद करने जंतर-मंतर पहुंचे और कहा कि अब डॉक्टर बेटी की रूह को सुकून मिलेगा। नेशनल अकाली दल की महिला विंग की सदस्यों ने भी तिलक नगर चौक पर दुष्कर्म के आरोपितों को फांसी दिए जाने की मांग की।

दिल्ली-एनसीआर की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक

Posted By: JP Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस