नई दिल्ली [शुजाउद्दीन]देश की राजधानी दिल्ली में भीषण आग के एक हादसे में 4 लोगों की दर्दनाक मौत हो गई। मिली जानकाकारी के मुताबिक, सीमापुरी इलाके में मंगलवार सुबह एक घर में भीषण आग लग गई। पति पत्नी समेत उनके दो बच्चे आग में फंस गए। पड़ोसियों ने आग की सूचना दमकल और पुलिस को दी। दमकल विभाग मौके पर पहुंचकर किसी तरह से आग पर काबू पाया। आग बुझने के बाद जब दमकलकर्मी घर के अंदर गए तो घर की तीसरी मंजिल पर चार लोग अचेत हालत में पड़े थे। पुलिस ने सभी को जीटीबी अस्पताल में भर्ती करवाया, जहां पर डाक्टरों ने सभी को मृत घोषित कर दिया। आग से मामूली रूप से झुलसने और धुएं से दम घुटने से मौत बताई जा रही है। वहीं, शुरुआती जांच में शार्ट सर्किट को आग की वजह बताया जा रहा है।

जानकारी के अनुसार होरीलाल परिवार के साथ जी ब्लाक पुरानी सीमापुरी में रहते थे। परिवार में पत्नी रीना, बड़ा बेटा आशु और छोटी बेटी रोहिणी थी। होरीलाल शास्त्री भवन में चपरासी थे। अगले वर्ष मार्च में वह सेवानिवृत्त होने वाले थे। उनकी पत्नी रीना दिल्ली नगर निगम में सफाई कर्मचारी थीं। वहीं, उनका बेटा आशु पढ़ाई पूरी करने के बाद नौकरी की तलाश कर रहा था, जबकि होरीलाल की बेटी रोहिणी 12वीं कक्षा में थी। घटनाक्रम के मुताबिक, मंगलवार सुबह करीब चार बजे अचानक घर में आग लग गई और पूरा परिवार में आग में फंस गया। घर से आग की लपटें निकलते देख पड़ोसियों ने आग की सूचना पुलिस को दी।

जागरण संवाददाता से मिली जानकारी के मुताबिक,  आग लगने का यह भीषण हादसा पुरानी सीमापुरी इलाके के घर जी- 261 में हुआ। वहीं, सूचना पर दिल्ली पुलिस की टीम के साथ दमकल विभाग के कर्मचारी भी हादसा स्धल पर पहुंचे। दिल्ली पुलिस के मुताबिक, इस हादसे में घर की तीसरी मंजिल पर रह रहे 4 लोगों की मौत हो गई। आग की वजहों का पता लगायाा जा रहा है। 

जान गंवाने वालों के नाम

  • होरीलाल
  • रीना
  • आशु
  • रोहिणी

उधर, एक अन्य हादसे में दिल्ली से सटे गाजियाबाद के खोड़ा इलाकी की गली संख्या एक में इतवार बाजार स्थित तीन मंजिला मकान में मंगलवार सुबह करीब साढ़े पांच बजे आग लग गई। तीन मंजिला मकान में नमकीन चिप्स बनाने का कार्य हो रहा था। मकान के अंदर गैस सिलेंडर व तेल से भरे ड्रम रखे थे। इस कारण आग पकड़कर भयावह रूप ले ली। सूचना पर पहुंचे अग्निशमनकर्मियों ने उस और अगल-बगल के मकानों में रह रहे लोगो को सुरक्षित बाहर निकाला। आग बुझाने का प्रयास शुरू किया। गैस सिलेंडर फटने से मकान की ऊपरी छत गिर गई। ड्रमों में रखे तेल बहकर नालियों में बहने से आग उसमें भी पकड़ ली।

इस बाबत मुख्य अग्निशमन अधिकारी गाजियाबाद सुनील कुमार सिंह ने बताया कि आग को अन्य मकान व दुकानों में फैलने से रोकते हुए आग को पूर्ण रूप से बुझा दिया गया।

Edited By: Jp Yadav