नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। Nirbhaya Case : निर्भया मामले में डेथ वारंट के हिसाब से निर्भया के दोषियों को एक फरवरी को फांसी पर लटकाया जाएगा। इसके पहले दोषियों से मुलाकात के लिए परिजनों के आने का सिलसिला जारी है। शुक्रवार को दोषी विनय व मुकेश से मिलने परिजन पहुंचे। जेल सूत्रों के अनुसार, मुकेश से मिलने उसके माता-पिता पहुंचे। इनके साथ एक अन्य व्यक्ति भी था। इसी तरह विनय से भी मिलने उसके माता-पिता आए थे। जेल प्रशासन के अनुसार अभी सभी दोषियों से परिजन मुलाकात अभी कर सकते हैं। इसके पहले भी पवन, मुकेश, विनय व अक्षय के परिजन समय समय पर इनसे मिलने आते रहते हैं।

जेल सूत्रों का कहना है कि परिजनों के मुलाकात के अलावा दोषियों से जेल अधिकारी भी समय समय पर मुलाकात करते रहते हैं। इनमें उपाधीक्षक, अधीक्षक से लेकर अन्य उच्चाधिकारी तक शामिल हैं। मुलाकात के दौरान दोषियों की पूरी बात सुनते हैं और उन्हें सामान्य रखने की कोशिश की जाती है।

वहीं, मुलाकात के दौरान अधिकारी उन्हें समझाते हुए यह जरूर कहते हैं कि वे अपने तय समय में खाना खाएं तथा स्वास्थ्य जांच व काउंसलिंग में अवश्य शामिल हों। इस दौरान यदि कोई दोषी अपनी समस्या बताता है तो उसे दूर करने की कोशिश की जाती है।

यहां पर बता दें कि दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने डेथ वारंट जारी करते हुए एक फरवरी को सुबह 6 बजे फांसी देना तय किया है। ऐसे में तिहाड़ जेल प्रशासन पूरी तैयारी कर रहा है, लेकिन दो दोषियों के पास अब भी दो विकल्प हैं- क्यूरेटिव पेटीशन और राष्ट्रपति के पास दया याचिका। नियमानुसार, एक ही मामले में दोषी करार दिए गए लोगों को एकसाथ फांसी दी जाती है, ऐसे में एक फरवरी को फांसी लगना संभव नहीं है। 

Nirbhaya Case: 3 दोषियों के वकील के कदम से आया नया मोड़, फिर टल सकती है फांसी की तारीख

दिल्ली-एनसीआर की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक

Posted By: JP Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस