नई दिल्ली (स्वदेश कुमार)। आस्था के जाल में फंसाकर महिला ने 200 से ज्यादा लोगों को ठगी का शिकार बनाया। खजूरी इलाके में ‘गुरु मां’ के नाम से मशहूर पुष्पा गोयल ने बेटी की शादी के बहाने एक-एक अनुयायी से 5 से 20 लाख तक वसूले और मोटी राशि जमा होने के बाद फरार हो गई। नेहरू विहार निवासी संतोष तोमर नामक महिला की शिकायत पर खजूरी खास थाना पुलिस ने पुष्पा गोयल सहित तीन लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी व अन्य धाराओं के तहत केस दर्ज कर लिया है।

शिकायतकर्ता संतोष तोमर ने बताया कि वह तीन साल पहले पुष्पा गोयल से मंदिर में कीर्तन में मिली थीं और बाद में सेवा में जुट गईं। पुष्पा गोयल का दयालपुर में किराये के मकान में आवास था, लेकिन उसका ठिकाना कोई न कोई मंदिर ही होता था। उसके साथ हमेशा दो सेविकाएं रहती थीं।

लोगों को भरोसा इतना था कि एक बार कहने पर लोग जागरण, कीर्तन आदि कार्यक्रमों के लिए लाखों रुपये का चंदा जुटा लेते थे। कामाख्या देवी मंदिर, अमरनाथ यात्र सहित विभिन्न धार्मिक स्थलों के लिए उसके साथ बड़ा जत्था रवाना होता था। यात्रा की व्यवस्था देविंदर नामक शख्स देखता था और उसे पुष्पा गोयल पति बताती थी।

अप्रैल में पुष्पा व देविंदर उनके घर आए और बेटी की शादी के लिए रुपये की जरूरत बताई। उन्होंने कहा कि यह रकम एक हफ्ते में लौटा दी जाएगी। हफ्ते बाद जब वह पुष्पा गोयल के घर पहुंचीं तो उनकी तरह वहां 100 से ज्यादा लोग पैसे लेने के लिए पहुंचे थे। पता चला कि पुष्पा गोयल से ज्यादा अनुयायियों से रुपये ऐंठकर फरार हो गई।

Posted By: JP Yadav