मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

नई दिल्ली/नोएडा [कुंदन तिवारी]। दिल्ली स्थित इंदिरा गांधी इंटरनेशनल (Indira Gandhi international) एयर पोर्ट को उत्तर प्रदेश के जेवर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से सीधे जोड़ने की तैयारी शुरू हो गई है। इसके लिए एयरपोर्ट प्राधिकरण (Air port authority) और नोएडा प्राधिकरण (Noida authority) के साथ मिलकर एक ऐसा कॉरिडोर विकसित करने की दिशा पर काम करने जा रहा है, जिससे जेवर इंटर नेशनल एयर पोर्ट (Jewar Inter international Airport) को अधिक-अधिक शहरों के साथ सीधे जोड़ा जा सके।

टोल ब्रिज कंपनी के साथ जल्द होगी बैठक
इसके लिए सेक्टर-150 और सेक्टर-168 में यमुना पर हरियाणा की तरफ दो पुल बनाया जाना है। इसके निर्माण की जिम्मेदारी टोल ब्रिज कंपनी को दी जा सकती है। निर्माण लागत निकलने के बाद पुल प्राधिकरण को हस्तांतरित कर दिया जाएगा। इसको लेकर टोल ब्रिज कंपनी के साथ प्राधिकरण की जल्द बैठक होने जा रही है।

दोनों पुलों के निर्माण में 900 करोड़ रुपये होंगे खर्च
बता दें कि इस कॉरिडोर के रास्ते में दिल्ली का जाम बाधक न बने। ऐसे में फरीदाबाद-गुरुग्राम के रास्ते नोएडा-ग्रेटर नोएडा में सीधे प्रवेश की संभावनाओं पर काम किया जा रहा है। नोएडा प्राधिकरण की ओर से यमुना पुल के ऊपर से प्रस्तावित दो पुलों (पहला सेक्टर-150 व दूसरा सेक्टर-168) के बनने की संभावनाएं अब प्रबल हो चुकी हैं। दोनों पुलों के निर्माण में करीब 900 करोड़ रुपये का खर्च आएगा।

लगाया जा सकता दोनों पुलों पर टोल टैक्स
सेक्टर-168 के पुल का निर्माण के लिए केंद्र व राज्य सरकार को पत्र लिखा जा चुका है, जबकि सेक्टर-150 का निर्माण टोल ब्रिज कंपनी से करवाने का विचार किया जा रहा है। प्राधिकरण ने बताया कि इस पुल बनने से उत्तर प्रदेश व हरियाणा के बीच की दूरी महज 15 मिनट की रह जाएगी। ऐसे में यदि इस पर टोल लगाया जाता है तो मुसाफिरों को कोई घाटा नहीं होगा।

रिंग रोड की तरह काम करेगा कोरिडोर
यह कॉरिडोर नोएडा, ग्रेटर नोएडा व फरीदाबाद को जोड़ेगा। एक्सप्रेस-वे पर सेक्टर-150 से होते हुए एक पुल यमुना किनारे बसे गांव अमीपुर तक जाएगा। इसके बाद एक सड़क फरीदाबाद के कबूलपुर, शिकारगाह गांव के पास से ग्रेटर नोएडा के लिए बनाई जाएगी। पुल से फरीदाबाद सेक्टर-95 के आउटर रोड तक एक 90 मीटर चौड़ी सड़क बनाई जाएगी, जो राजपुर कला, तिलोरी खाद आदि गांव के पास से होते हुए अलीपुर शिकारगाह तक पहुंचेगी। इसके अलावा नोएडा के सेक्टर-168 से फरीदाबाद के महावतपुर और लालपुर गांव पर आकर एक यमुना पुल और समाप्त होगा।

आइजीआइ एयरपोर्ट आएगा और करीब
इन दोनों पुलों के बनने के बाद फरीदाबाद से नोएडा व ग्रेटर फरीदाबाद की दूरी चंद मिनटों की रह जाएगी। इन दोनों पुलों को जोड़ने के लिए भी रिवाजपुर गांव के पास से महावतपुर गांव के ऊपर से लालपुर तक करीब छह किलोमीटर की एक 90 मीटर चौड़ी सड़क बनाई जाएगी। यह फरीदाबाद की बाइपास रोड से कनेक्ट होगी, इस रास्ते सेक्टर-89 के पास वजीरपुर गांव के रास्ते सेक्टर-28 में फिर बड़खल फ्लाईओवर से सीधे सूरजकुंड रोड से जुड़ेगी और मानव रचना शिक्षण संस्थान चौराहे से गुरुग्राम इफ्को चौक या शंकर चौक तक पहुंच जाएगी। यहां से आइजीआइ एयरपोर्ट काफी पास है।

कई राज्य के लोगों को होगा लाभ
केके अग्रवाल (महाप्रबंधक (सिविल), नोएडा प्राधिकरण) के मुताबिक, यमुना पर पुलों के निर्माण को लेकर केंद्र व राज्य सरकार के साथ बातचीत चल रही है। टोल ब्रिज कंपनी को निर्माण कार्य सौंपने की योजना है, इससे निर्माण का आर्थिक बोझ नहीं पड़ेगा। कई राज्यों के लोगों को सुविधा भी मिल जाएगी।

दिल्‍ली को आज 10 साल बाद मिलने जा रही ये सुविधा, महिलाओं को होगा विशेष फायदा

नोएडा मेट्रो में JE पद पर नौकरी का मौका, कितनी होगी सैलरी और कब से करना है आवेदन, पढ़िए पूरी जानकारी

दिल्ली-NCR की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक

Posted By: JP Yadav

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप