नई दिल्ली/भोपाल, जागरण संवाददाता। फंगस (म्यूकरमाइकोसिस) के इलाज में उपयोगी इंजेक्शन उपलब्ध कराने का झांसा देकर महिला इंजीनियर से डेढ़ लाख की धोखाधड़ी करने के आरोपित अजय कुमार उर्फ प्रिंस मेहतो को कोर्ट ने जेल भेज दिया है। महज 12वीं पास आरोपित इंटरनेट मीडिया के माध्यम से कई लोगों को अपना शिकार बना चुका है। उसके पास से तीन मोबाइल फोन और सिम कार्ड जब्त किए गए हैं।

महिला पेशे है इंजीनियर

साइबर क्राइम पुलिस के अनुसार शिकायतकर्ता भोपाल की अवधपुरी निवासी 30 वर्षीय महिला साफ्टवेयर इंजीनियर हैं। मई में उनके रिश्तेदार को म्यूकरमाइकोसिस हुआ था। उन्हें निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

इंजेक्शन की मदद के लिए इंटरनेट मीडिया पर महिला ने खोजा नंबर

महिला को इंटरनेट मीडिया पर एक मोबाइल नंबर मिला, जिस पर संपर्क किया तो गुरुग्राम में रहने वाले प्रिंस नामक युवक से बात हुई। उसने इंजेक्शन भेजने की बात कही तो महिला ने उसे 25 इंजेक्शन के लिए कुल एक लाख 46 हजार, 250 रुपये आरोपित के खाते में जमा करा दिए थे। जब कोरियर नहीं मिला तो महिला ने दोबारा संपर्क करने की कोशिश की, लेकिन जालसाज का मोबाइल नंबर बंद हो चुका था।

साइबर क्राइम ने दर्ज किया धोखाधड़ी का मामला

महिला की शिकायत पर साइबर क्राइम पुलिस ने धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया। तकनीकी जांच के बाद पुलिस ने अजय कुमार उर्फ प्रिंस मेहतो (20) को गिरफ्तार कर लिया। प्रिंस को पकड़ने के लिए साइबर क्राइम पुलिस ने मोबाइल और बैंक खातों की जानकारी से सुराग निकाला और उसके दिल्ली स्थित ठिकाने पर दबिश दी। वह दिल्ली के द्वारिका के कुतुब विहार फेज वन के गोयल डेयरी निवासी है। उसे गिरफ्तार कर भोपाल ले आया गया।

यह भी पढ़ेंः जनकपुरी अतिविशिष्ट अस्पताल में घटती जा रही सुविधा मरीजों के लिए बनी परेशानी