नई दिल्ली [राहुल चौहान ]। टीकाकरण अभियान के अंतर्गत शनिवार को सर गंगा राम अस्पताल में 104 साल के बुजुर्ग व्यक्ति तुलसी दास चावला ने कोरोना का टीका लगवाया। वह व्हीलचेयर से टीकाकरण केंद्र पर पहुंचे। अब तक टीका लगवाने वाले वरिष्ठ नागरिकों में वह सबसे बुजुर्ग हैं। कोविशील्ड टीका लगवाने के बाद उन्हें किसी तरह का कोई दुष्प्रभाव नहीं हुआ।

 

टीके की पहली डोज लेने के बाद अपना पंजीकरण कार्ड दिखाते हुए चावला ने फोटो भी खिचवाई। कार्ड में उनकी जन्मतिथि एक नवंबर 1917 लिखी हुई है। पटेल नगर निवासी चावला भारतीय विदेश मंत्रालय के अधिकारी रहे हैं। वह 1975 में सेवानिवृत्त हुए। ड्यूटी के दौरान वह संयुक्त राज्य अमेरिका, नीदरलैंड, पाकिस्तान और अफ्रीका सहित विभिन्न देशों में तैनात रह चुके हैं। 104 साल की उम्र में भी चावला एक सक्रिय जीवन जी रहे हैं।

उनके दो बेटे, दो बेटियां, पांच पोते और एक परपोता है। टीका लगाने के बाद चावला ने कहा कि मैं हर किसी से आग्रह करता हूं कि वो टीका जरूर लगवाएं। यह पूरी तरह से सुरक्षित है। वहीं, सर गंगा राम अस्पताल के बोर्ड आफ मैनेजमेंट (बीओएम) के चेयरमैन डा डीएस राणा ने बताया कि हम 60 से अधिक आयु वर्ग के लोगों में भारी उत्साह देख रहे हैं। चावला जी बिना किसी झिझक के साथ कोरोना का टीका लगवाने आए थे।

वह सभी के लिए एक प्रेरणा हैं। उन्होंने कहा कि शनिवार को अस्पताल में 476 लोगों को टीका लगाया गया। इनमें से 60 वर्ष से ऊपर के 265 और 45 से 59 साल के 211 लोग शामिल हैं। वहीं, सामाजिक संस्था सहयोग दिल्ली के अध्यक्ष मनोज जैन ने दरियागंज स्थित संजीवन अस्पताल में कोरोना टीके की पहली डोज ली। इस मौके पर उन्होंने कहा कि लोग टीके को लेकर गलतफहमी में ना रहें। अपनी बारी का इंतजार करते हुए 45 से लेकर 60 से कम उम्र के लोग टीका जरूर लगवाएं और इसके लिए दूसरों को प्रेरित भी करें।

ये भी पढ़ेंः रसोई गैस के बढ़ते दाम के बीच आम लोगों को बड़ी राहत, प्याज की कीमतों में भारी गिरावट

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप