नई दिल्ली, प्रेट्र। जम्मू कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने रविवार को एम्स में पैलेट गन से पीड़ित इंशा मलिक से मुलाकात की। पैलेट गन की शिकार इंशा अपनी आंखों की रोशनी खो चुकी है। मुलाकात के बाद महबूबा मुफ्ती ने वादा किया कि वे इंशा की आंखों की रोशनी लाने के लिए हर संभव प्रयास करेंगी। यदि आंखों के प्रत्यारोपण की जरूरत हुई तो राज्य सरकार यह कदम भी उठाएगी। बता दें कि शोपियां में पुलिस और प्रदर्शनकारियों की झड़प के दौरान नौवीं कक्षा की छात्रा इंशा पैलेट गन का शिकार हो गई थी, बाद में उसकी आंखों की रोशनी चली गई।

महबूबा मुफ्ती ने इंशा के माता-पिता से भी मुलाकात तक बेहतर इलाज का आश्वासन दिया। मुख्यमंत्री ने कहा कि अगर जरूरत हुई तो जम्मू-कश्मीर सरकार इंशा का इलाज विदेश में कराएगी। इससे पहले मुख्यमंत्री महबूबा ने एम्स के नेत्र केंद्र में संबंधित डॉक्टरों से इंशा की सेहत की जानकारी ली।

महबूबा ने डॉक्टरों से अपील की कि वे इंशा की आंखों की रोशनी वापस लाने के लिए हर संभव प्रयास करें। महबूबा मुफ्ती ने इलाजरत उस पुलिसकर्मी का हालचाल भी लिया, जो कश्मीर हिंसा में घायल हो गया था।

पीएम से मिलीं महबूबा, प्रदर्शनकारियों से कहा मुझे एक मौका दीजिए

Posted By: Amit Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस