नई दिल्ली, विनय तिवारी। भारतीय किसान यूनियन के नेता और राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत के एक बयान पर यूपी की सियासत में घमासान मच गया है और जुबानी जंग छिड़ी हुई है। दरअसल जैसे-जैसे यूपी विधानसभा के चुनाव नजदीक आ रहे हैं यूपी की सियासत में आरोपो-प्रत्यारोपों और उल्टी सीधी बयानबाजी का दौर शुरू हो गया है। सभी पार्टियों के नेता इसमें एक से बढ़कर एक बयान दे रहे हैं। इसी कड़ी में किसान नेता राकेश टिकैट ने बागपत में हो रही एक जनसभा में आल इंडिया इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआइएमआइएम) के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी को चचा जान कह दिया, साथ ही ये भी कहा कि बीजेपी और ओवैसी एक ही टीम है।

ओवैसी बीजेपी के नेताओं को कुछ भी कह देते हैं मगर उनके खिलाफ कोई केस दर्ज नहीं होता है मगर यदि कोई किसान या कोई और दल का नेता कुछ कह देता है तो उसके खिलाफ केस दर्ज कर लिया जाता है। उनकी ओर से कही गई इस बात को समाचार एजेंसी एएनआइ ने अपने ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया उसके बाद ये बयान वायरल हो गया।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कुशीनगर में एक रैली के दौरान समाजवादी पार्टी को आड़े हाथों लिया था। उन्होंने कहा था कि जब सपा की सरकार थी उस दौरान गरीबों के राशन अब्बाजान खा जाते थे, इस पर सपा प्रमुख अखिलेश ने जवाब दिया था। उसके बाद अब राकेश टिकैत ने दो पार्टियों को एक ही बता दिया। किसान नेता राकेश टिकैत आए दिन केंद्र और प्रदेश सरकार को लेकर कुछ न कुछ आरोप प्रत्यारोप लगाते रहते हैं। अब उन्होंने मंच से ओवैसी और सतारूढ़ पार्टी को एक ही दल कह दिया, ऐसा कहकर वो दूसरे दलों का समर्थन प्राप्त करने की कोशिश कर रहे हैं मगर सच्चाई क्या है वो सभी जानते हैं।

Edited By: Vinay Kumar Tiwari