गुड़गांव। गुड़गांव की ट्रैफिक जॉइंट कमिश्नर भारती अरोड़ा और पुलिस कमिश्नर नवदीप सिंह विर्क में आरोप प्रत्यारोप का दौर तेज हो गया है। एक और जहां पुलिस कमिश्नर ने भारती के आरोपों को झूठा करार देते हुए कहा कि वह आरोपी को जानती हैं, वहीं अब भारती ने पुलिस कमिश्नर को कटघरे में खड़ा कर दिया है।

खूबसूरत है लड़की इसलिए सीपी ले रहे रुचिः भारती

भारती ने भी पत्रकार वार्ता कर कहा कि सीपी नवदीप सिंह विर्क और पीड़ित लड़की के संबंध हैं। भारती अरोड़ा का यह भी आरोप है कि लड़की मिस चंडीगढ़ रह चुकी है और खूबसूरत है, इसलिए पुलिस कमिश्नर रुचि ले रहे हैं। उन्होंने इस मामले की सीबीआइ जांच की मांग की है।

इससे पहले फिक जॉइंट कमिश्नर भारती अरोड़ा ने पुलिस कमिश्नर नवदीप सिंह विर्क पर प्रताड़ना का आरोप लगाया था। उन्होंने हरियाणा के डीजीपी यशपाल सिंघल को पत्र लिखकर यह शिकायत की है।

भारती ने आरोप लगाया है कि कमिश्नर विर्क दुष्कर्म के एक मामले में गैरजरूरी दखल दे रहे हैं और उन्हें मानसिक रूप से प्रताड़ित कर रहे हैं।

उन्होंने विर्क पर इस मामले में निर्दोष पर कार्रवाई करने के लिए दबाव बनाने का भी आरोप लगाया। 1998 बैच की आईपीएस भारती ने चिट्ठी में चिंता जताई है कि विर्क उनके करियर को नुकसान पहुंचा सकते हैं, इसलिए सिंघल तुरंत प्रभाव से दखल दें।

हालांकि, पुलिस कमिश्नर नवदीप सिंह विर्क ने इन आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि वे ऐसी किसी भी शिकायत के बारे में नहीं जानते। उन्होंने कहा कि वे भारती के बयान से हैरान हैं। वह एक आधिकारिक मामले में गलत बयान दे रही हैं, जिसकी जांच पुलिस हेडक्वार्टर में चल रही है।

इस बारे में कुछ नहीं कह सकता। जहां तक रेप केस में दखल की बात है तो अजय भारद्वाज को मेरी पोस्टिंग से पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका था, इसलिए कुछ भी गलत करने का सवाल ही नहीं उठता।

विर्क का दावा है कि रेप पीड़ित महिला ने भारती के खिलाफ बदसलूकी की शिकायत की है और आरोप लगाया है कि वे आरोपी अजय भारद्वाज और उसके परिवार की मदद कर रही हैं, क्योंकि भारती अजय की बहन चचंल भारद्वाज को व्यक्तिगत रूप से जानती हैं।

जांच के बाद भारती के खिलाफ इन आरोपों को सही पाया गया। इसलिए इस मामले में डीजीपी को कार्रवाई के लिये स्पेशल रिपोर्ट भेजी गई है।

पुलिस कमिश्नर ने खारिज किए आरोप

अपने ऊपर लगे आरोपों का जवाब देने के लिए पुलिस कमिश्नर नवदीप सिंह विर्क खुद आगे आए। उन्होंने सुशांत लोक के समीप एक होटल में पत्रकारों से बातचीत में अपना पक्ष रखा। सीपी नवदीप विर्क ने अपने ऊपर लगे सभी आरोपों को नकारा।

उन्होंने कहा कि दुष्कर्म के मामले में जॉइंट सीपी भारती अरोड़ा व्यक्तगत रूप से रुचि ले रही हैं। साथ ही आरोपियों के साथ पारिवारिक संबंध होने की भी बात कही। उन्होंने कहा कि इसकी जांच पुलिस महानिदेशक को भेजी गई है।

CM तक पहुंची बात

मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के ओएसडी जवाहर यादव ने पूरे मामले को लेकर अवगत करा दिया है। उम्मीद की जा रही है कि शाम तक कुछ ठोस कार्रवाई भी दोनों के खिलाफ की जाएगी। स्थानांतरण भी हो सकता है।

सामने आई पीड़िता, भारती अरोड़ा को घेरा

मामले में गुड़गांव रेप केस की पीड़िता ने सामने आकर अपना पक्ष रखा है। उन्होंने कहा कि भारती अरोड़ा पुलिस अधिकारी और महिला होने का फायदा उठा रही हैं। पीड़िता के मुताबिक, रेप के आरोपी अजय की बहन चंचल भारती अरोड़ा की करीबी हैं।

अजय और उसका परिवार पैसे वाला

रेप पीड़िता के मुताबिक, आरोपी अजय और उसका परिवार पैसा वाला है। यही वजह है कि वे पैसे के बल पर ताकत का दुरुपयोग कर रहे हैं। पीड़िता ने अपना दर्द बयां करते हुए कहा कि मेरे पास पैसे नहीं हैं, इसलिए हाइकोर्ट के चक्कर नहीं काट सकती। साथ यह भी कहा कि नवदीप विर्क पर भारती के सभी आरोप गलत हैं।

दोनों अधिकारियों का मीडिया में जाना गलत: DGP

पूरे मामले पर हरियाणा के डीजीपी यशपाल सिंघल का कहना है कि गुड़गांव पुलिस कमिश्नर पर लगे आरोपों के बारे में जॉइंट कमिश्नर भारती अरोड़ा की रिपोर्ट मिला है। इस मामले में पुलिस कमिश्नर नवदीप विर्क ने भी अपना पक्ष रखा है। पूरे मामले की जांच की जा रही है।

डीजीपी ने कहा कि इस मामले में पुलिस अधिकारियों का मीडिया में जाना गलत है। विभागीय स्तर पर ही मामले को उठाया जाना चाहिए था।

Posted By: JP Yadav