मेवात [जेएनएन]। तावडू के प्राइवेट स्कूल ग्रीन डेल्ज पब्लिक स्कूल में एक मुस्लिम महिला टीचर द्वारा 6 जुलाई को ईद मिलन कार्यक्रम के दौरान स्कूूल के बच्चों को नमाज व इस्लामिक ग्रंथ पढ़ाने का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। जैसे ही इस बारे में अभिभावकों को पता चला तो उन्होंने स्कूल पर पहुंचकर बवाल काटा।

बवाल की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई और सतर्कता बरतते हुए स्कूल को नहीं खुलने दिया तथा विरोध कर रहे अभिभावकों व स्कूल संचालक को थाने ले आए। यहां कई घंटे पंचायत चली। जिसमें स्कूल संचालक की तरफ से यह सफाई दी कि उन्होंने इस कार्यक्रम को अन्य त्यौहारों की तरह ही मनाया। लेकिन नमाज पढ़वाने की उनसे गलती हुई है।

जानें, केजरी ने AAP विधायकों से क्यों कहा, 'एक दिन तो जेल जाना ही होगा'

स्कूल संचालक हेमा शर्मा ने लिखित में माफी मांगी तो पंचायत ने उन पर पांच लाख 51 हजार रुपये का दंड करते हुए, दो साल तक स्कूल फीस न बढ़ाने व स्कूल में पढ़ने वाली छात्राओं को स्कर्ट के स्थान पर सूट सलवार पहनकर स्कूल में पढ़ाने के निर्देश दिए।

स्कूल संचालक ने भी पंचायत के इस फरमान को स्वीकार करते हए आगे से भविष्य में ऐसी गलती का दोहराव न होने की बात कही। इस फैसले के बाद प्रशासन ने भी राहत की सांस ली। इस दौरान तावडू थाना प्रभारी, तहसील दार इंद्रजीत सिंह, बीइओ अनूप सिंह सहित क्षेत्र के सैकड़ों लोग मौजूद थे।

Edited By: Amit Mishra