जागरण संवाददाता, बाहरी दिल्ली : हनीट्रैप का यह गिरोह रोहिणी में पिछले एक साल से सक्रिय था और कई हाई प्रोफाइल लोगों को अपना शिकार बनाकर उनसे पांच करोड़ रुपये की उगाही कर चुका है।

इस गिरोह के निशाने पर डाक्टर, इंजीनियर, बिल्डर से लेकर बड़े-बड़े कारोबारी होते थे। गिरोह में 12 सदस्य हैं। जिनमें पांच युवतियां हैं। ये सोशल साइट्स व सोशल मीडिया के जरिये

हाई प्रोफाइल लोगों की जानकारी जुटाकर उन्हें निशाना बनाते थे। उन्हें फांसने के लिए स्थानीय सूत्रों का भी इस्तेमाल करते थे।

रोहिणी जिला पुलिस के एसीपी (ऑपरेशन्स) जितेंद्र मलिक की टीम की पूछताछ में गिरफ्तार गौरव त्यागी व ललित ने बताया है कि वह हर पांचवे दिन एक शिकार को फंसाते थे। शिकार को फंसाने के बाद पचास लाख की मांग करते थे और तत्काल जो जितनी रकम दे देता था, उसे लेकर उन्हें को छोड़ देते थे।

लेकिन कम से कम तीन से चार लाख रुपये तक उनसे वसूल लेते थे। किसी भी पीड़ित ने लोक लाज के कारण अब तक पुलिस से शिकायत नहीं कराई थी, ऐसे में गिरोह का मनोबल बढ़ा हुआ था। ये लोग शिकार को उनके पेशे से जुड़े कार्य के बहाने से अपने पास बुलाते थे और उनकी अश्लील फोटो खींचकर उनसे उगाही करते थे। मामले के संज्ञान में आने के बाद ऐसे दस से अधिक लोग सामने आ चुके हैं। जिस पीड़ित की शिकायत पर इस गिरोह का पर्दाफाश हुआ है, उनके वकील राजीव सैनी ने बताया कि उनके संपर्क में कुछ ऐसे लोग आए हैं और शिकायत दर्ज कराने की बात कह रहे हैं।

नकली सिक्के बनाने में गिरफ्तार हो चुका है गौरव

जागरण संवाददाता, बाहरी दिल्ली :

हनी ट्रैप मामले गिरफ्तार गौरव त्यागी पहले भी जेल जा चुका है। वह नकली सिक्के तैयार करने के मामले में आरोपित रहा है। इस मामले में उसके खिलाफ रोहिणी जिले के समयपुर बादली थाने में 2012 में मामला दर्ज किया गया था और दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने उसे गिरफ्तार किया था। बाद में वह जमानत पर जेल से बाहर आ गया था।

हालांकि गिरफ्तार ललित पर पहले से कोई मामला दर्ज नहीं है। पुलिस सूत्रों के अनुसार गिरोह के बाकी सदस्य फरार हो गए हैं। उनकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस की टीमें लगाई गई है। इनमें कुछ आरोपितों पर पहले से भी दो तीन मामले दर्ज हैं। पुलिस गिरोह में शामिल पांच युवतियों के भी आपराधिक रिकार्ड को खंगाल रही है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस