नई दिल्ली, जेएनएन। केंद्रीय मंत्री और दिल्ली प्रदेश भाजपा के पूर्व अध्यक्ष विजय गोयल ने कहा है कि आम आदमी पार्टी (AAP) और कांग्रेस सत्ता के लालच में मिलने की जुगाड़ में हैं। सत्ता के लिए यदि ये दोनों भ्रष्ट दल आज लोकसभा में और कल विधानसभा में मिलेंगे तो दिल्ली की क्या हालत होगी इसका अंदाजा लगाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि वह दिल्ली की जनता को सावधान करने के लिए धरना कर रहे हैं, ताकि वह इस महामिलावटी गठबंधन के झांसे में न आए।

विजय गोयल जंतर-मंतर पर धरना दे रहे कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कल तक जो एक-दूसरे पर भ्रष्टाचार के आरोप लगा रहे थे, आज वे दो सीट जीतने के लिए गले मिलने को आतुर हैं। ये दोनों दल दिल्ली की जनता को बेवकूफ समझते हैं, मानो वह इनकी चालों को समझती न हो। गोयल ने कहा कि सत्ता के लिए राहुल गांधी अपने पिता राजीव गांधी का अपमान तक भूल गए।

अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली विधानसभा में प्रस्ताव पारित करके पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी का भारत रत्न सम्मान वापस लेने की मांग की थी। हालात इतनी तेजी से बदल रहे हैं कि अब तो कांग्रेस दिल्ली प्रदेश की अध्यक्ष शीला दीक्षित भी अपना अपमान भूल गई हैं, जबकि केजरीवाल ने उन्हें भ्रष्टाचार के कारण दो दिन में जेल भेजने की बात कहीं थी।

विजय गोयल ने कहा कि अजय माकन कल तक आप के मंत्रियों और विधायकों को भ्रष्ट कह रहे थे। उनका कहना था कि वह इस गठबंधन के पक्ष में नहीं है। लेकिन, पार्टी अध्यक्ष का पद छोड़ते ही उनके तेवर बदल गए। जंतर-मंतर पर धरने के दोनों तरफ दो बोर्ड लगाए गए थे। एक बोर्ड पर आप द्वारा कांग्रेस पर लगाए गए भ्रष्टाचार के आरोप लिखे थे और दूसरे पर कांग्रेस द्वारा आप सरकार पर लगाए गए आरोप थे।