नई दिल्ली [स्वदेश कुमार]। आइपी एक्सटेंशन में होने वाली रामलीला में इस बार चार नए प्रसंग जोड़े जा रहे हैं। मराठी की प्रसिद्ध गीत रामायण से भी प्रसंग लिए गए हैं। इसमें युद्ध के समय रावण द्वारा अंतिम प्रयास के तहत माता तारा देवी की पूजा और मेघनाथ के जन्म से जुड़ा प्रसंग शामिल है। यहां की रामलीला में भगवान श्रीराम के विभिन्न स्वरूप दिखाए जाएंगे। इसमें उन्हें दलित व वंचित समाज से प्रेम करने वाले और पर्यावरण हितैषी के रूप में दिखाया जाएगा।

कमेटी के प्रधान सुरेश बिंदल ने कहा कि नए प्रसंगों के साथ दो साल बाद भव्य तरीके से रामलीला दिखाई जाएगी। इसकी तैयारियां जोरों पर चल रही हैं। चेयरमैन दलीप बिंदल ने कहा कि लीला कमेटी दर्शकों द्वारा चयनित चौथे पुतले का दहन करती है। इस वर्ष भी रावण, कुंभकर्ण व मेघनाथ के साथ चौथे पुतले का भी दहन किया जाएगा। चौथा पुतला आज का रावण होगा।

इसके लिए लोगों से सुझाव मांगे गए हैं। इसमें भ्रष्टाचार, आतंकवाद, प्रदूषण आदि के अभी सुझाव आए हैं। खान-पान के लिए जनक बाजार लगेगा। बच्चों के लिए झूले लगाए जा रहे हैं। प्रचार मंत्री राजीव गुगलानी ने बताया कि इस बार काफी संख्या में श्रद्धालुओं के आने की उम्मीद है। ऐसे में सुरक्षा को लेकर विशेष प्रबंधन किए गए हैं। समस्त लीला क्षेत्र सीसीटीवी कैमरों की निगरानी में होगा।

150 से अधिक स्वयंसेवक होंगे। इसके अलावा पुलिस और जिला प्रशासन के सिविल डिफेंस वालंटियर भी लीला स्थल पर तैनात रहेंगे। एंबुलेंस के साथ डाक्टर भी कार्यक्रम स्थल पर उपलब्ध रहेंगे। इस दौरान कमेटी के मंत्री मुकेश कौशिक, वाइस चेयरमैन चंद्रभान बंसल, महामंत्री मितिन, कोषाध्यक्ष प्रमोद अग्रवाल, निर्माण मंत्री सत्येंद्र अग्रवाल और कार्यकारी प्रधान राजकुमार गुप्ता उपस्थित रहे।

रामलीला से पहले तीन दिन चलेगी कृष्ण लीला

सीबीडी मैदान में श्री हनुमंत रामलीला कमेटी करेगी पहली बार लीला का मंचन जासं, पूर्वी दिल्ली : सीबीडी मैदान में अभी तक दो कमेटियों की तरफ से रामलीला का आयोजन होता था। लेकिन इस बार तीसरी भी मैदान में उतर आई है। श्री बालाजी रामलीला कमेटी से अलग होकर श्री हनुमंत धार्मिक रामलीला कमेटी का गठन हुआ है। कमेटी अपने पहले प्रयास में ही श्रद्धालुओं के दिल तक पहुंचना चाहती है।

इसके लिए यहां तैयारियां जोरों पर हैं। यहां रामलीला से पहले तीन दिन तक श्रीकृष्ण की लीला दिखाई जाएगी। कमेटी के चेयरमैन नीलकमल गुप्ता, प्रधान मनीष बंसल और वाइस चेयरमैन नवीन गोयल ने प्रेस वार्ता में बताया कि हम ज्यादा से ज्यादा लोगों में धर्म जागरण का उद्देश्य लेकर चल रहे हैं। इसके लिए 12 दिवसीय कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। पहले दिन हनुमान कथा का मंचन होगा। इसके बाद तीन दिन की श्रीकृष्ण लीला दिखाई जाएगी। इसमें जन्म से लेकर गीता ज्ञान तक की कथा का चित्रण किया जाएगा।

पांचवें नवरात्र पर मां दुर्गा के नौ रूपों की कथा का चित्रण होगा। इसके बाद अगले छह दिन तक राम लीला होगी। विजय दशमी पर्व और राजतिलक के साथ समापन किया जाएगा। कमेटी ने सुरक्षा के साथ लीला मंचन में पार्किंग की व्यवस्था भी की है।

मुख्य मंच पर एक हजार स्क्वायर फीट की एलईडी स्क्रीन लगाई गई है। पूरे मैदान में भी लीला अवलोकन के लिए स्क्रीन लगाई जाएंगी। 64 सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। उच्चतम गुणवत्ता के विश्वस्तरीय 12 झूले लगाए गए हैं। इस दौरान वरिष्ठ प्रधान विजय अग्रवाल, महासचिव ललित गोयल, सचिव श्वेत गोयल एवं कोषाध्यक्ष नितिन गुप्ता उपस्थित रहे।

Edited By: Pradeep Kumar Chauhan