नई दिल्ली [जेएनएन]। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के सिविल लाइंस स्थित आवास पर 19 फरवरी की रात मुख्य सचिव अंशु प्रकाश से मारपीट के मामले में पुलिस ने सोमवार को अंबेडकर नगर से 'आप' विधायक अजय दत्त से चार घंटे तक पूछताछ की।

पुलिस ने पचास से अधिक सवाल पूछे

सिविल लाइंस थाने में उनसे पचास से अधिक सवाल पूछे गए। उन्होंने भी अंशु प्रकाश से मारपीट की बात से इन्कार किया है। 'आप' के पूर्व विधायक संजीव झा को जांच में शामिल होने के लिए नोटिस भेजा गया है। उन्हें सिविल लाइंस थाने में उपस्थित होने को कहा गया है। मामले में चार पूर्व व वर्तमान विधायकों से पूछताछ हो चुकी है।

पूछताछ की वीडियो रिकार्डिंग कराई जा रही है

सोमवार शाम 4.30 बजे अजय दत्त अपने अधिवक्ता व 50 समर्थकों के साथ सिविल लाइंस थाने पहुंचे। वकील के साथ अजय दत्त को कमरे में बुलाया गया, जहां एडिशनल डीसीपी हरेंद्र कुमार व एसीपी अशोक त्यागी के अलावा छह अधिकारियों की टीम ने उनसे पूछताछ की। अजय दत्त ने उन्हें बताया कि बैठक में जब कहासुनी होने लगी तभी मुख्य सचिव उठकर चले गए। पुलिस को कुछ सवालों के जवाब सकारात्मक मिले हैं। बैठक में कौन-कौन कहां बैठे थे इस बारे में भी पूछताछ की गई। पूछताछ की वीडियो रिकार्डिंग कराई जा रही है, जो अहम सबूत के तौर पर पुलिस के लिए काम आएगी।

दो विधायकों की हो चुकी है गिरफ्तारी 

गौरतलब है कि ओखला से 'आप' विधायक अमानतुल्लाह खान व देवली के विधायक प्रकाश जारवाल को घटना के तुरंत बाद ही गिरफ्तार कर लिया गया था। दोनों दो हफ्ते से जेल में बंद थे। अब उन्हें जमानत मिल गई है। बैठक में उपस्थित अन्य नौ वर्तमान व पूर्व विधायकों से एक-एक कर पूछताछ की जा रही है। उनसे दोबारा भी पूछताछ की जाएगी।

जातिसूचक शब्द के मामले में भी होगी पूछताछ

पुलिस का कहना है कि अजय दत्त व 'आप' विधायक प्रकाश जारवाल ने ई-मेल के जरिये अनुसूचित जाति व जनजाति आयोग में शिकायत भेजकर मुख्य सचिव अंशु प्रकाश पर जातिसूचक शब्द कहने का आरोप लगाया था। लिहाजा अजय दत्त से इस मसले पर भी पूछताछ की गई। 

यह भी पढ़ें: मुख्य सचिव पिटाई मामलाः CM केजरीवाल के सलाहकार वीके जैन का इस्तीफा, वजह भी जान लें

By Amit Mishra