नोएडा। धार्मिक उन्माद का दौर आने की आशंका जताने वालों को उत्तर प्रदेश के इस गांव के लोगों ने जबरदस्त झटका दिया है। गौतमबुद्धनगर में रबूपुरा कस्बे के खेरली भाव गांव के लोगों ने ऐसे उन्मादी तत्वों को आईना दिखाते हुए गांव में हिन्दू रीति-रिवाज से मस्जिद की नींव रखकर एकता और सद्भाव की मिसाल कायम की है।

01 अप्रैल यानी शुक्रवार को गांव के मंदिर के पुजारी बाबा महेंद्र गिरी ने चावल, रोली व कलावे का प्रयोग कर वैदिक रीति रिवाज और मंत्रोच्चार से मस्जिद की नींव रखवाई, जबकि मुस्लिम रीति के अनुसार हाजी मय्यूद्दीन ने मस्जिद की नींव रखी। इस अवसर पर सभी समुदाय के लोग मौजूद रहे।

किसान नेता व उत्तर प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता ठाकुर धीरेंद्र ने कहा कि धर्म एक ऐसा माध्यम है, जो देश और दुनिया को एकता के सूत्र में पिरोता है। धर्म को राजनीति का शिकार नहीं बनाना चाहिए। धर्म मारने का नहीं, मानने का विषय है।

जिलाधिकारी गौतमबुद्ध नगर एनपी सिंह का कहना है कि खेरली भाव के लोगों ने सामाजिक एकता की बड़ी मिसाल कायम की है। धर्म अगन होने के बावजूद लोगों ने स्वयं की भूमि पर एक साथ मस्जिद निर्माण की नींव रखी है।

इससे भाईचारे की भावना और सामाजिक सौहार्द बढ़ा है। इस तरह के संदेश से देश के लोग एकता के सूत्र में बंधेंगे और युवा पीढ़ी को प्रेरणा मिलेगी।

Edited By: JP Yadav