गाजियाबाद। गाजियाबाद-मेरठ रूट पर ईएमयू ट्रेन चलने का इंतजार कर रहे लाखों लोगों के लिए खुशखबरी है। 26 नवंबर को रूट पर ईएमयू ट्रेन का सीआरएस ट्रायल किया जाएगा। ट्रायल सफल होने पर कमिश्नर ऑफ रेलवे सेफ्टी सर्टिफिकेट जारी करेंगे। उसके बाद रूट पर ईएमयू ट्रेन का संचालन शुरू कराया जाएगा।

गाजियाबाद-मेरठ रूट पर ईएमयू ट्रेन संचालन के लिए इलेक्टिक लाइन डालने वाली टीम के प्रभारी व रेलवे के मेरठ डिवीजन में तैनात इंजीनियर रामप्रसाद ने बताया कि गाजियाबाद-मेरठ रूट पर इलैक्ट्रिफिकेशन का काम काफी पहले पूरा कर मुख्यालय को रिपोर्ट भेज दी गई थी।

रेलवे मुख्यालय ने 26 नवंबर का सीआरएस ट्रायल करने का फैसला लिया है। ट्रायल सफल होने के बाद 27 नवंबर को कमिश्नर ऑफ रेलवे सेफ्टी सर्टिफिकेट जारी करेंगे। इसके बाद रेलवे मुख्यालय द्वारा तिथि तय कर गाजियाबाद-मेरठ रूट पर ईएमयू ट्रेन का संचालन शुरू कराया जाएगा।

वहीं अगर कमिश्नर ऑफ रेलवे सेफ्टी को ट्रायल के दौरान खामियां मिली तो वे खामियों के संबंध में रिपोर्ट देंगे। जिसके बाद खामियों में सुधार किया जाएगा।

रेलवे के मंडल यातायात प्रबंधक डीके चोपड़ा ने बताया कि सीआरएस ट्रायल के मद्देनजर मंगलवार रात 1.25 बजे से लेकर 3.25 बजे तक दो घंटे का ब्लॉक लेकर मेरठ रूट की इलेक्टिक लाइन को गाजियाबाद की इलेक्टिक लाइन से जोड़ा दिया।

वहीं हाल ही में नई बनाई गई हापुड़-मुरादाबाद रूट की इलेक्टिक लाइन को भी गाजियाबाद की लाइन से जोड़ा गया। ब्लाक के कारण आम्रपाली एक्सप्रेस समेत तीन ट्रेन प्रभावित रहीं।

Edited By: JP Yadav