जागरण संवाददाता, पूर्वी दिल्ली :

पूर्वी दिल्ली नगर निगम शिक्षा समिति के चेयरमैन राजकुमार बल्लन ने निगम के तीन स्कूलों दयालपुर, मंडोली विस्तार और खजूरी खास का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान इन स्कूलों में कई खामियां मिलीं। सफाई व्यवस्था से लेकर मिड डे मील परोसने की जगह पर नियमों का पालन नहीं किया जा रहा था। इस वजह से इन स्कूलों के दो प्रिंसिपल और स्कूल प्रभारी सहित कई कर्मचारियों पर गाज गिरी है। यहां दो ¨प्रसिपल का तत्काल प्रभाव से तबादला कर दिया गया है, वहीं अन्य को कारण बताओ नोटिस जारी किए गए हैं। इस औचक निरीक्षण में शाहदरा उत्तरी जोन के सहायक शिक्षा निदेशक राजीव कुमार व पूर्वी दिल्ली नगर निगम मुख्यालय के सहायक शिक्षा निदेशक (योजना) अंबुज कुमार भी मौजूद थे।

स्कूल में कई तरह की अनियमितता पाए जाने पर मंडोली विस्तार के प्रधानाचार्य विजयपाल और खजूरी खास के प्रधानाचार्य हरीश कुमार का तत्काल प्रभाव से स्थानांतरण किया गया है। विजय पाल को मंडोली विस्तार के द्वितीय पाली में और हरीश कुमार को राजीव नगर में द्वितीय पाली में भेजा गया है। दयालपुर स्कूल के इंचार्ज मंसूर आलम, सफाईकर्मी धीरज कुमार और मिड डे मील इंचार्ज पम्मी कुमार को कारण बताओ नोटिस दिया गया। दयालपुर स्कूल में सफाई व्यवस्था बदहाल थी। इसके अलावा जहां मिड डे मील रखा जाता है वहां सफाई भी नहीं थी। इस स्कूल के सफाई कर्मचारी धीरज कुमार ने स्कूल में हाजिरी लगाई थी, लेकिन वह सफाई कार्य के बदले घर चला गया था। निगम अधिकारियों के अनुसार इनके जवाब मिलने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। इसके अलावा जिन स्कूलों में अनियमितता पाई गई है उसकी जांच करवाई जा रही है। इस मौके पर राजकुमार बल्लन ने कहा कि प्राथमिक शिक्षा का जिम्मा पूर्वी दिल्ली नगर निगम के विद्यालयों के ऊपर है और शिक्षा का स्तर सुधारने के लिए हमें अपनी शिक्षा व्यवस्था में सुधार लाना पड़ेगा उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि निगम विद्यालयों में शिक्षा के लिए बेहतर माहौल तैयार करने के लिए योजनाएं बनाएं। उन्होंने कहा कि विद्यालयों में अनुशासनहीनता एवं शिक्षा व्यवस्था से समझौता नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि हम ऐसी शिक्षा व्यवस्था देना चाहते हैं जो प्राथमिक स्कूलों के समकक्ष या उससे उच्च स्तर की हो।

Posted By: Jagran