नई दिल्ली [नेमिष हेमंत] पहले से ही मुश्किल दौर से गुजर रहे पेट्रोल पंप संचालको की मुश्किलें डीजल टैक्सियों पर बैन ने और बढ़ा दी है। माना जा रहा है कि दिल्ली की करीब 27 हजार डीजल टैक्सियों की रफ्तार थमने से डीजल की बिक्री में 25 फीसद की गिरावट आ सकती है।

15 से 30 अप्रैल तक चले ऑड-इवन फॉर्मूले के कारण डीजल की बिक्री में 15 फीसद की गिरावट हुई थी। पहले से ही झटका खाए पेट्रोल पंप संचालक मानकर चल रहे थी कि फॉर्मूला खत्म होने के बाद 1 मई से डीजल की बिक्री होगी, लेकिन डीजल टैक्सियों पर प्रतिबंध ने उनके होश उड़ा दिए है।

टैक्सी ऑपरेटर्स की दो टूक- 'एक घंटे में समाधान न हुआ तो चक्का जाम'

दिल्ली पेट्रोल डीलर्स एसोसिएशन के उपाध्यक्ष निशीथ गोयल के मुताबिक दिल्ली के मुकाबले हरियाणा में डीजल सस्ती होने से करीब 22 फीसद डीजल का कारोबार पड़ोसी राज्य स्थानांतरित हो गया है, क्योंकि हरियाणा होकर आने वाले ट्रक वहीं से डीजल भरवा लेते हैं। इतना ही नहीं दिल्ली के बड़े कारखाने भी हरियाणा से डीजल लाने को प्राथमिकता दे रहे हैं।

दिल्ली में डीजल की दर प्रति लीटर 50.97 पैसे है तो हरियाणा में यह 50.05 पैसे प्रति लीटर है। बता दें कि दिल्ली में 400 पेट्रोल पंप हैं। जिनसे प्रतिमाह करीब 14 करोड़ लीटर डीजल की बिक्री होती है। निशीथ के मुताबिक ऑड इवन के कारण 10 करोड़ लीटर प्रति माह की बिक्री में 10 से 15 फीसद की गिरावट देखने को मिली। 15 दिनों में पांच से सात लाख लीटर डीजल की ही बिक्री हुई। उनके मुताबिक 27 हजार डीजल टैक्सियां दो से ढ़ाई करोड़ लीटर डीजल प्रतिमाह की खपत करती है। प्रतिबंध से अब यह खपत नहीं होगी।

ट्रेन की चपेट में आने से कार के उड़ गए परखच्चे, महिला समेत बच्चे की मौत

हड़ताल की चेतावनी

हरियाणा से 90 पैसे महंगे डीजल की दर बराबरी पर लाने के लिए एक बार फिर पंप संचालकों की वैट कटौती की मांग जोर पकड़ने लगी है। ऑड-इवन-2 के दौरान वैट कटौती की मांग को लेकर संचालकों ने पेट्रोल पंप हड़ताल की धमकी दी थी, हालांकि, सरकार के आश्वासन के बाद वह मान गए थे। अब फिर वह पंप ठप करने की धमकी देने लगे है। इस सिलसिले में दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसौदिया से मंगलवार को पेट्रोल पंप संचालकों की बैठक भी तय है। पंप संचालक चाहते हैं कि मौजूदा 18. 6 फीसद वैट दर में सरकार कटौती करे ताकि हरियाणा जा रहे उनके ग्राहक दिल्ली लौट सकें।

Posted By: Amit Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप