जागरण संवाददाता, नई दिल्ली :

दिल्ली मेट्रो का किराया बढ़ने के बाद स्मार्ट कार्ड की बिक्री में भी कमी आई है। सूचना के अधिकार के तहत मिली जानकारी के अनुसार वर्ष 2016 में जुलाई, अगस्त, सितंबर और अक्टूबर में स्मार्ट कार्ड की बिक्री रोजाना क्रमश : 16000, 16,500, 15,200 और 14,900 थी। वहीं, इस साल इन्हीं महीनों में इसकी बिक्री घटकर क्रमश: 12,900, 12,400, 11,700 और 12,000 पहुंच गई।

दिल्ली मेट्रो ने इस दौरान दो बार मई और अक्टूबर में अपने किराये में बढ़ोतरी की है। अक्टूबर में दूसरी बार किराये में वृद्धि के बाद प्रतिदिन यात्रा करने वालों की संख्या में करीब तीन लाख की गिरावट आई है। दिल्ली मेट्रो के अधिकारी कहते हैं कि यात्रियों की संख्या में आई गिरावट के लिए केवल किराये में वृद्धि को जिम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता। अधिकारी ने किराये में बढ़ोतरी के फैसले को कंपनी की कार्यक्षमता बढ़ाने के लिए आवश्यक बताते हुए सही ठहराया।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस