राज्य ब्यूरो, नई दिल्ली :

छात्रों को आसानी से ऑनलाइन शिक्षण सामग्री उपलब्ध कराने के लिए दिल्ली सरकार ने शुक्रवार को लीड (लर्निग थ्रू ई-रिसोर्सेज मेड एक्सेसिबल फॉर दिल्ली) पोर्टल की शुरुआत की। उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने पोर्टल को लांच करते हुए कहा कि दिल्ली सरकार के लिए शिक्षा सबसे बड़ी प्राथमिकता रही है। पिछले पांच सालों में हमने मिशन बुनियाद, हैपिनेस कक्षाएं, उद्यमिता माइंडसेट जैसी पहलों ने शिक्षा को बच्चों के जीवन और जीने के तरीके से जोड़ने की कोशिश की है।

उन्होंने कहा कि दिल्ली एससीईआरटी ने 25 सदस्यीय कोर टीम बनाई है। यह नियमित रूप से ई-लर्निग कंटेंट को अपग्रेड करेगी। हम आज लीड पोर्टल के माध्यम से दीक्षा पोर्टल पर शिक्षण और प्रशिक्षण सामग्री के साथ जुड़ रहे हैं इसके जरिये अब न सिर्फ देश और दुनिया के साथ अपने प्रयोगों को साझा कर सकेंगे साथ ही देश और दुनिया में हो रहे प्रयोगों से भी हम सीख भी सकेंगे। उन्होंने कहा कि मुझे पूरा भरोसा है कि आने वाले समय में लीड पोर्टल हमारी शिक्षा प्रणाली का मुख्य हिस्सा बनेगा। उन्होंने दीक्षा पोर्टल पर यह सुविधा उपलब्ध कराने के लिए एनसीईआरटी और एमएचआरडी के प्रति आभार प्रकट किया। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के दौरान दिल्ली के छात्रों के साथ ही उनके अभिभावकों ने भी ऑनलाइन शिक्षण में दिलचस्पी दिखाई है। इससे भरोसा जगा है कि लीड पोर्टल का सदुपयोग करते हुए बच्चे ई-लर्निग रिसोर्सेज का लाभ उठाएंगे।

लीड पोर्टल लांचिग के दौरान शिक्षा सचिव मनीषा सक्सेना ने भी संबोधित किया। इस मौके पर शिक्षा निदेशक बिनय भूषण समेत शिक्षा निदेशालय अन्य अधिकारी भी मौजूद थे।

100,00 से ज्यादा पाठ्यक्रम सामग्री उपलब्ध : लीड पोर्टल पर पहली से 12वीं कक्षा तक के छात्रों के लिए करीब दस हजार पाठ्यक्रम सामग्री उपलब्ध कराई गई है। लीड के माध्यम से छात्रों को सीबीएसई व एनसीईआरटी के साथ ही दिल्ली सरकार के पाठ्यक्रम की उपयोगी सामग्री मिलेगी। इसके अलावा डिजिटल क्यूआर कोडे आधारित किताबें, व्याख्यात्मक वीडियो, अभ्यास प्रश्नपत्र व मूल्यांकन के विकल्प भी शामिल किए गए हैं।

Edited By: Jagran