नई दिल्ली। रेल आरक्षण केंद्रों पर बढ़ रही भीड़ को देखते हुए नई दिल्ली स्टेशन के नजदीक स्थित आरक्षण केंद्र में यात्रियों के सीधे प्रवेश पर रोक लगा दी गई है। आरक्षण केंद्र में क्षमता से ज्यादा भीड़ न हो इसके लिए टोकन प्रणाली की शुरुआत की गई है। टोकन में दर्ज नंबर के आधार पर ही यात्रियों को टिकट आरक्षित कराने के लिए काउंटर पर खड़े होने की अनुमति दी जाती है। इस व्यवस्था से भीड़ को नियंत्रित करने के साथ ही दलालों को रोकने में भी मदद मिल रही है।

बुलेट ट्रेन के लिए भारत को जापान देगा 975 अरब रुपए लोन

त्योहार नजदीक होने की वजह से आरक्षण केंद्रों में यात्रियों की भीड़ को रोकने और अव्यवस्था से निपटने के लिए टोकन सिस्टम कारगर साबित हो रहा है। टोकन सिस्टम की वजह से दलालों की एंट्री में भी रोक लगी है जिससे आम यात्रियों को टिकट लेने में होने वाली दिक्कतों का सामना नहीं करना पड़ रहा है।

सुबह लगती है भीड़

सबसे ज्यादा भीड़ सुबह तत्काल कोटे का टिकट खरीदने के लिए होती है। लोग कई घंटे पहले काउंटर खुलने के इंतजार में आरक्षण केंद्र पर पहुंच जाते हैं।

दीपावली और छठ की भीड़ को देखते हुए रेलवे चलाएगा जनरल कोच की ट्रेन

अधिकारियों का कहना है कि नियमित आरक्षित टिकट खरीदने के लिए भी इन दिनों ज्यादा भीड़ हो रही है। दरअसल, इंटरनेट से लिया हुआ प्रतीक्षा सूची का टिकट कंफर्म नहीं होने पर स्वत: रद हो जाता है। वहीं टिकट काउंटर से लिया हुआ प्रतीक्षा सूची का टिकट कंफर्म नहीं होने के बावजूद रद नहीं होता है। इसलिए त्योहार के दिनों में लोग काउंटर से टिकट खरीदना चाहते हैं, जिससे भीड़ बढ़ जाती है।

नई दिल्ली स्टेशन के नजदीक होने के कारण IRCA (इंडियन रेलवे कांफ्रेंस एसोसिएशन) इमारत स्थित आरक्षण केंद्र में ज्यादा भीड़ हो रही है। अधिकारियों का कहना है कि भीड़ को देखते हुए IRCA में क्यू मैनेजमेंट सिस्टम शुरू किया गया है। काउंटर पर पहुंचने से पहले यात्री का पहचान पत्र देखने के बाद उसे टोकन दिया जाता है। इससे काउंटर पर भीड़ नहीं बढ़ती है। फिलहाल यह व्यवस्था सिर्फ एक आरक्षण केंद्र पर है, लेकिन जरूरत पडऩे पर अन्य बड़े आरक्षण केंद्रों में भी इसे लागू किया जा सकता है।

ट्रेनों में बढ़ी जगह, टिकट होगा कन्फर्म

Posted By: Amit Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस