जागरण संवाददाता, दक्षिणी दिल्ली के जैतपुर थाना पुलिस ने अपने पूर्व सहयोगी को नौकरी दिलाने के नाम पर उससे डेढ़ लाख रुपये ठगने वाले पूर्व कर्मचारी को गिरफ्तार किया है। आरोपित की पहचान गौरव दत्त के रूप में हुई है। दक्षिण-पूर्वी जिले के पुलिस उपायुक्त राजेंद्र प्रसाद मीणा के मुताबिक 15 अक्टूबर को पुलिस को सरिता विहार निवासी मुकुल अग्रवाल ने शिकायत की थी कि वर्ष- 2015 में वह एयरटेल के कॉलसेंटर में काम करते थे। वहीं उनकी मुलाकात गौरव दत्त से हुई थी। कुछ दिन बाद गौरव ने नौकरी छोड़ दी। वर्ष- 2019 में उसकी मुलाकात फेसबुक पर हुई। उसने मुकुल को बताया कि वह वित्त मंत्रालय में काम करता है। वह उसकी भी नौकरी लगवा सकता है। उसने कहा कि इसके लिए करीब डेढ़ लाख रुपये खर्च करने होंगे।

आरोपित ने दो-तीन बार में उससे डेढ़ लाख रुपये अपने अकाउंट में मंगवा लिए। काफी दिन बाद तक नौकरी न मिलने पर पीड़ित ने उससे कई बार शिकायत की, तो एक दिन उसने पीड़ित को एक फर्जी आइकार्ड भेज दिया। उस पर पीड़ित का फोटो लगा था और उसका नाम लिखा था। गौरव ने मुकुल को बताया कि यह आइकार्ड वित्त मंत्रालय की ओर से जारी किया गया है। उसने कहा कि अभी कुछ और दस्तावेज पेंडिग हैं, उन्हें जमा करते ही विभाग में ज्वाइनिग मिल जाएगी। दस्तावेज लेने वह जैतपुर में मुकुल के पास आया और तीन हजार रुपये मांगने लगा। इस पर पीड़ित को शक हुआ तो उसने लोगों की मदद से उसे दबोच लिया और पुलिस को बुला लिया। पुलिस ने आरोपित को गिरफ्तार कर लिया।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस