नई दिल्ली [वीके शुक्ला]। राजधानी दिल्ली में सोमवार से सभी बाजारों की सभी दुकानें खोल दी जाएंगी। इसके साथ ही रेस्टोरेंट भी पचास फीसद क्षमता के साथ खोले जाएंगे। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि मार्केट-माल दुकानें खोलने का आड-इवेन सिस्टम खत्म कर दिया गया है। अब सोमवार से सारी दुकानें खोली जा सकेंगी। टाइमिंग सुबह 10 बजे से रात 8 बजे तक की होगी। रेस्टोरेंट खोलने की इजाजत होगी, लेकिन सीटिंग कैपेसिटी के 50 फीसद ग्राहकों के साथ। एक जोन में एक दिन में एक ही वीकली मार्केट खोलने की अनुमति दी गई है। हालांकि सामान्य समय में जितने लोग होते हैं उसके 50 फीसद वेंडर्स के साथ ही वीकली मार्केट खोली जा सकेंगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पब्लिक प्लेस पर शादियों की अनुमति नहीं दी गई है। घर पर या कोर्ट में 20 लोगों की उपस्थिति में ही शादी की जा सकेगी। अंतिम संस्कार में भी 20 से ज्यादा लोग नहीं शामिल हो सकेंगे। धार्मिक स्थल खुल सकते हैं लेकिन किसी भी श्रद्धालु को वहां आने की इजाजत नहीं होगी। मेट्रो और और बसें 50 प्रतिशत सीटिंग कैपेसिटी के साथ चलती रहेंगी। डीडीएमए इस बाबत विस्तृत दिशा-निर्देश जल्द ही जारी करेगा।

स्कूल और शिक्षण संस्थाएं बंद रहेंगीः केजरीवाल

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि कोरोना संक्रमण को ध्यान में रखते हुए अभी स्कूल और शिक्षण संस्थाएं बंद रखने का फैसला लिया गया है। बता दें कि पिछले कई महीने से दिल्ली में शिक्षण संस्थाएं कोरोना की वजह से बंद हैं। छात्रों को इसके लिए अभी इंतजार करना पड़ेगा। दिल्ली में सामाजिक, राजनीतिक, सांस्कृतिक समारोहों पर रोक जारी रहेगी।

ये भी पढ़ेंः दिल्ली में महिला की घिनौनी करतूत आयी सामने, किशोरी का किया यौन उत्पीड़न; बनाया समलैंगिक संबंध

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि कोविड की स्थिति काफी हद तक नियंत्रण में है, संभावित तीसरी लहर की तैयारी जारी है। लोग शारीरिक दूरी का पालन करते हुए मास्क जरुर लगाएं और कोविड नियमों का पालन करें। ताकि संक्रमण से बचा जा सके।

इसे भी पढ़ेंः शहर के इस पॉश इलाके में घर-घर Gold और 'पांडे जी' की चर्चा, 40 Kg सोना व साढ़े 6 करोड़ की चोरी बनी चर्चा का विषय

सीएम अरविंद केजरीवाल ने चेताया अभी न हो बेफ्रिक कोरोना की तीसरी लहर के ब्रिटेन से मिल रहे संकेत, जानिए और क्या कहा

छात्रों के लिए खुशखबरी: दिल्ली स्किल एंड एंटरप्रेन्योर यूनिवर्सिटी एडमिशन के लिए खुद पहुंचेगी छात्रों के पास, जानें कब

कच्ची रसीद पर दिया सपनों का घर, फिर किया बिजली-पानी का इंतजाम, अब हो गए गायब, पढ़िए खोरी बस्ती में भूमाफिया की कहानी

 

Edited By: Mangal Yadav