नई दिल्ली [संजीव गुप्ता]। प्रदूषण मुक्त हरित आवागमन के लिए दिल्ली विकास प्राधिकरण (Delhi Development Authority) ने दिल्ली में करीब 200 किलोमीटर लंबे समर्पित साइकिल-वाक ट्रैक तैयार करने की योजना बनाई है। योजना का मकसद दिल्ली वासियों को सुरक्षित व खुशी से साइकिल चलाने की अनुमति देना है। इस महत्वाकांक्षी परियोजना को पांच चरणों में बांटा गया है।

जानिये- ट्रैक के बारे में

  • डीडीए के मुताबिक पहले चरण में 36 किमी लंबा ट्रैक बनाया जाएगा। यह तीन चरणों में बंटा होगा।
  • लेन ए - संगम विहार से मालवीय नगर मेट्रो स्टेशन तक- लगभग 20.5 किमी।
  • लेन बी - मालवीय नगर मेट्रो स्टेशन से वसंत कुंज तक - करीब 8.5 किमी।
  • लेन सी - चिराग दिल्ली से संत नगर और चिराग दिल्ली से एशियाड विलेज परिसर तक - लगभग 7.0 किमी।

परियोजना की मुख्य विशेषताएं

साइकिल ट्रैक, पैदल यात्री ट्रैक, यूनिवर्सल एक्सेसिबिलिटी ट्रैक के साथ-साथ ओरिजिन डेस्टिनेशन प्लाजा, इंटरमीडिएट स्टेशन, लैंड ब्रिज और अन्य सहायक विकास कार्य।

विभागों की मंजूरी मिलते ही शुरू हो जाएगा स्काई वाक का निर्माण

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने इसी साल छह जनवरी को परियोजना की आधारशिला रखी थी। फेज एक लेन ए के निर्माण का टेंडर भी हो गया है। फेज दो लेन बी और लेन सी के लिए निविदाएं नियत समय में जारी की जाएंगी। रिज प्रबंधन बोर्ड, वन विभाग, राष्ट्रीय वन्यजीव बोर्ड, राष्ट्रीय स्मारक प्राधिकरण और अन्य विभागों से अनापत्ति प्रमाण पत्र प्राप्त करने की प्रक्रिया भी शुरू कर दी गई है और अलग-अलग चरणों में हैं। सभी संबंधित विभागों से मंजूरी मिलते ही साइकिल वाक ट्रैक का निर्माण कार्य शुरू हो जाएगा।

बुधवार को ही उपराज्यपाल ने की थी बैठक

इस महत्वाकांक्षी परियोजना के मद्देनजर उपराज्यपाल अनिल बैजल ने भी बुधवार को ही दक्षिण दिल्ली के संगम विहार से वसंत कुंज तक साइकिल वाक प्रोजेक्ट बनाने पर बैठक की थी। उन्होंने कहा था कि यह परियोजना राजधानी को प्रदूषण से मुक्ति दिलाने की दिशा में महत्वपूर्ण कदम होगा। उपराज्यपाल ने डीडीए को साइकिल ट्रैक निर्माण के रास्ते में आने वाली तमाम बाधाओं को जल्द से जल्द समाप्त करने को कहा था ताकि परियोजना जल्द शुरू हो सके।

Edited By: Jp Yadav