नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। दिल्ली में यूपी लिंक रोड पर मयूर विहार फेज-एक के सामने स्थित फ्लाईओवर के साथ बनाए जा रहे दोनों क्लोवरलीफ का बनकर तैयार हो जाना राहत की बात है। बारापुला फेज-तीन एलिवेटेड कॉरिडोर परियोजना के तहत बनाए गए इन क्लोवरलीफ के शुरू होते ही वाहनों का नोएडा से मयूर विहार फेज-एक और मयूर विहार फेज-एक से लिंक रोड पर आकर अक्षरधाम की ओर जाना आसान हो जाएगा। ऐसी उम्मीद की जा रही है कि इसी सप्ताह ये क्लोवरलीफ जनता के लिए खोल दिए जाएंगे। इन क्लोवरलीफ के तैयार होने में तीन साल की देरी भी हुई है, जो नहीं होनी चाहिए थी। यही नहीं, जिस बारापुला फेज-तीन एलिवेटेड कॉरिडोर परियोजना के तहत इन्हें बनाया जा रहा है, वह परियोजना पूरी होने में अभी ढाई से तीन साल लग सकते हैं, क्योंकि भूमि संबंधी विवाद के चलते यह पूरी परियोजना पिछड़ चुकी है।

राजधानी दिल्ली में लोक निर्माण विभाग की कई परियोजनाओं पर काम चल रहा है, लेकिन इनमें से अधिकतर कोरोना महामारी के कारण व कुछ अन्य वजहों से समय से पीछे चल रही हैं। जो परियोजनाएं कोरोना महामारी से इतर किन्हीं अन्य वजहों से पिछड़ी हैं, उनके काम में अब तेजी लाई जानी चाहिए और उन्हें जल्द से जल्द पूरा किया जाना चाहिए। इनमें कुछ परियोजनाएं ऐसी हैं, जिनकी जनता को सख्त जरूरत है और उनके पूरा न होने के कारण लोग खासे परेशान हो रहे हैं। इनमें प्रगति मैदान सुरंग सड़क परियोजना प्रमुख है, जिसके तैयार होने पर इंडिया गेट की ओर से रिंग रोड पर जाने के लिए यातायात सिग्नल फ्री हो सकेगा।

इसके शुरू हो जाने से आइटीओ के जाम को कम करने में भी मदद मिलेगी। इसी तरह, दक्षिणी दिल्ली में मथुरा रोड को सिग्नल फ्री करने जैसी कई परियोजनाओं पर काम चल रहा है, जिन्हें तेजी से पूरा किए जाने की आवश्यकता है, ताकि लोगों को उनका जल्द से जल्द लाभ मिल सके।

Edited By: Jp Yadav