नई दिल्ली, राज्य ब्यूरो। कोरोना की तीसरी लहर आने की आशंका के बीच बच्चों पर कोवैक्सीन के ट्रायल की प्रक्रिया तेजी से आगे बढ़ रही है। इसी क्रम में एम्स में ट्रायल में हिस्सा लेने वाले छह से 12 साल की उम्र के बच्चों को भी टीके की दूसरी डोज दे दी गई है। अगले सप्ताह दो से छह साल की उम्र के बच्चों को भी टीके की दूसरी डोज दे दी जाएगी। तब ट्रायल में हिस्सा लेने वाले सभी बच्चों को दूसरी डोज देने की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी। लिहाजा अगले माह के अंत तक अंतरिम रिपोर्ट आने की उम्मीद है, जिससे स्पष्ट हो सकेगा कि टीका बच्चों के लिए कितना सुरक्षित है। हालांकि, अब तक के ट्रायल में टीके का खास दुष्प्रभाव नहीं आने की बात कही जा रही है।

उल्लेखनीय है कि देश के छह अस्पतालों में 525 बच्चों पर यह क्लीनिकल ट्रायल चल रहा है। इसके तहत बच्चों को उम्र के अनुसार तीन वर्गों में बांट कर यह ट्रायल किया जा रहा है। हर उम्र वर्ग के 175 बच्चे ट्रायल में शामिल किए गए हैं। इसके तहत सबसे पहले 12 से 18 साल की उम्र के बच्चों को टीका दिया गया। इसके बाद छह से 12 साल के बच्चों को टीका लगा। दो से छह साल की उम्र के बच्चों को भी टीके की पहली डोज दी जा चुकी है। अब उन्हें सिर्फ दूसरी डोज देने का काम बाकी है।

कोरोना रोधी टीका जरूर लगवाएं : ब्रह्म सिंह

वहीं, ओखला विधानसभा क्षेत्र से भाजपा के पूर्व प्रत्याशी ब्रह्म सिंह व स्थानीय पार्षद कमलेश ने शुक्रवार को मदनपुर खादर वार्ड स्थित निगम स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों के अभिभावकों को मिड-डे मील का राशन बांटा। ब्रह्म सिंह ने अभिभावकों को बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार दिवाली तक सभी गरीब परिवारों को मुफ्त राशन देगी। इसलिए प्रवासी कामगारों को परेशान होने की जरूरत नहीं है।

ब्रह्म सिंह ने अभिभावकों से कहा कि सभी लोग कोरोना रोधी टीका जरूर लगवा लें। लोगों को कोरोना दिशानिर्देशों का सख्ती से पालन करना चाहिए व टीका जरूर लगवाना चाहिए। उन्होंने कहा कि स्कूल बंद होने के कारण आजकल सभी बच्चे घर में ही रह रहे हैं, लेकिन अभिभावक काम पर जा रहे हैं। अगर सभी अभिभावक टीका लगवा लेंगे तो उनके बच्चे भी संक्रमण से सुरक्षित रहेंगे।

Edited By: Mangal Yadav